अमेरिका के बमवर्षक विमान देंगे उत्‍तर कोरिया को जवाब

0

वॉशिंगटन। अमेरिका समेत पूरी दुनिया में उत्तर कोरिया द्वारा किए गए हाइड्रोजन बम परीक्षण से हलचल मच गई है। इस परीक्षण से सुपर पॉवर देश अमेरिका और चौकन्ना हो गया है। अमेरिका ने अपना एक बमवर्षक विमान दक्षिण कोरिया के लिए भेज चुका है। अमेरिका के इस प्रयास को उत्तर कोरिया के लिए चुनौती माना जा रहा है।

अमेरिका

अमेरिका का सख्त‍ रवैया

अमेरीका उत्तर कोरिया के प्रति सख्त रवैया अपनाने के मूड में हैं। इसी वजह से उसने दक्षिण कोरिया में अपना एक बमवर्षक विमान बी-52 स्ट्रैटोफोर्टरेस भेजा है। दक्षिण कोरिया और अमरीका ने कहा कि यह विमान अमरीका के गुआम स्थित एंडरसन एयरफोर्स स्टेशन से रवाना हुआ और द. कोरिया के गेयोंगी प्रांत में ओसान में पहुंच गया है।

यह भी पढ़ें: परमाणु बम से कई गुना विनाशकारी है हाइड्रोजन बम

यह भी पढ़ें: बम परीक्षण खुद की रक्षा के लिए

यह भी पढ़ें: उत्तर कोरिया से मिलकर निपटेंगे जापान और अमेरिका

यह भी पढ़ें: हाइड्रोजन बम टेस्ट करने वाले उत्तर कोरिया पर लगेंगे कई प्रतिबंध

उत्तर कोरिया से दूरी महज 70 किमी
जहां पर अमेरिका ने अपना विमान भेजा है उसकी दूरी उत्तर कोरिया से महज 70 किमी की है। दोनों देशों की सेना ने कहा कि दक्षिण कोरिया के दो एफ-15 और अमरीका के दो एफ-16 विमानों के साथ बमवर्षक ने बी-52 स्ट्रैटोफोर्टरेस ओसान में उड़ान भरी है। ये विमान उत्तर कोरिया पर नजर रख रहे हैं। बी-52 स्ट्रैटोफोर्टरेस का इस्तेमाल द. कोरिया व अमरीका के संयुक्त युद्धाभ्यास में भी किया जा चुका है। वहीं उत्तर कोरिया के तानाशाह किम ने हाइड्रोजन परीक्षण को आत्मरक्षा के जरूरी बताया।

loading...
शेयर करें