अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव: डोनाल्ड ट्रंप को मिली हार

0

डेसमोइनेस (अमेरिका)। अमेरिका में इस साल राष्ट्रपति चुनाव होने हैं। इसी सिलसिले में आयोवा में रिपब्लिकन पार्टी के टेड क्रूज ने डोनाल्ड ट्रंप को पिछाड़ दिया है।

डोनाल्ड ट्रंप

डोनाल्ड ट्रंप को मिली हार

रिपब्लिकन पार्टी के डोनाल्ड ट्रंप को पहले राज्य के चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। टेड क्रूज को जहां 28 फीसदी वोट मिले हैं, जबकि डोनाल्ड ट्रंप को 23 फीसदी वोट से संतोष करना पड़ा। आयोवा में शुरू हुए राष्ट्रपति दावेदारी के चुनाव में डोनाल्ड के हार जाने के बाद भी उनकी दावेदारी अभी बरकरार है। बाकी राज्यों के नतीजे तय करेंगे के डोनाल्ड राष्ट्रपति पद के दावेदार बनते हैं या नहीं।

अमेरिकी राष्ट्रपति बनने की जंग की शुरुआत
अमेरिका का आगामी राष्ट्रपति चुनने के लिए आयोवा में मतदान के साथ चुनावी जंग की शुरुआत हो गयी है। राष्ट्रपति पद के दावेदार डोनाल्ड ट्रंप और हिलेरी क्लिंटन जीत की उम्मीद कर रहे थे। दोनों दलों में यह भीतरी मुकाबला कड़ा था।

ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवारों में आगे
महीनों से जारी प्रचार मुहिम में ट्रम्प रिपब्लिकन पार्टी के शीर्ष दावेदार माने जा रहे हैं और उन्होंने शुरुआत में सबसे पसंदीदा दावेदार माने जा रहे जेब बुश समेत सभी दावेदारों को पीछे छोड दिया है। रिपब्लिकन पार्टी का दावेदार बनने के लिए कुल 12 उम्मीदवार मैदान में हैं। हालांकि विवादों से घिरे रहने वाले अरबपति ट्रम्प को सीनेटर टेड क्रूज से कडी टक्कर मिलने की संभावना पहले से ही व्यक्त की जा रही है।

Hillary-Clinton

2008 में हिलेरी को मिली थी असफलता

डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से दावेदार हिलेरी क्लिंटन 2008 में मिली असफलता को पीछे छोडने की तैयारी में हैं लेकिन इसके लिए उन्हें बर्नी सैंडर्स की कडी चुनौती से पार पाना होगा ताकि वह अमेरिका की पहली महिला राष्ट्रपति बनकर इतिहास रचने की दिशा में आगे बढ सकें। उन्हें आयोवा में मौजूदा राष्ट्रपति बराक ओबामा के हाथों हार का सामना करना पडा था।

हिलेरी का बयान

हिलेरी ने कहा कि मुझे पता है कि मुझे यह कैसे करना है और मैं तैयार हूं। उन्होंने कहा कि चुनाव को लेकर लोगों में काफी उत्साह और ऊर्जा है। मैं सभी से अपील करती है कि आप बाहर निकलें और इस अनूठी अमेरिकी प्रक्रिया का हिस्सा बनने के लिए आज मतदान करें।

loading...
शेयर करें