केजरीवाल बोले- तीन दीन के अंदर नोटबंदी का फैसला वापस ले सरकार, नहीं तो करूँगा प्रदर्शन

0

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को सरकार से कहा कि वह तीन दिन के अंदर नोटबंदी के फैसले को वापस ले या फिर आम आदमी के विद्रोह का सामना करने के लिए तैयार रहे। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने 500 और 1000 रुपये के नोट को अमान्य किए जाने के पीछे साजिश का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इससे देश में नकदी को लेकर अफरातफरी पैदा हुई है।

केजरीवाल ने कहा, “क्या आपको लगता है कि लोग मूर्ख हैं। हमें मूर्ख मत बनाइए। मत कहिए कि बैंकों और एटीएम के बाहर कतारों में खड़ा होना देशभक्ति है।” उन्होंने कहा, “इस निर्णय को तीन दिनों में वापस लीजिए। लोगों के धैर्य की परीक्षा मत लें। अन्यथा, लोगों द्वारा ‘बगावत’ (विद्रोह) हो जाएगी।”

अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

आम आदमी पार्टी के नेता ने सरकार को 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा से हुई 40 लोगों की मौतों के लिए भी दोषी ठहराया। केजरीवाल ने कहा, “इन 40 मौतों के लिए कौन जिम्मेदार है?” केजरीवाल ने फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि एक समय था कि वह सोचते थे कि मोदी एक ईमानदार व्यक्ति हैं। लेकिन, ‘आयकर विभाग के दस्तावेजों से पता चलता है कि दो कॉरपोरेट घरानों ने गुजरात के मुख्यमंत्री रहने के दौरान मोदी को भारी रिश्वत का भुगतान किया था।’

केजरीवाल ने कहा कि सरकार को उम्मीद है कि वह दस लाख करोड़ रुपये लोगों से नोटबंदी के जरिए जुटा लेगी, जिससे बैंकों के कॉरपोरेट घरानों को दिए गए भारी कर्ज की भरपाई हो सकेगी।

loading...
शेयर करें