अर्द्धकुंभ और अब बैसाखी के महा स्नान के लिए हरिद्वार पहुंचे भक्त

0

अर्द्धकुंभहरिद्वार। उत्तराखंड में अर्द्धकुंभ के छठे प्रमुख स्नान बैसाखी और मेष संक्रांति के स्नान के मौके पर बुधवार को तीर्थनगरी हरिद्वार के घाटों पर भक्तों का जमावड़ा लग गया। श्रद्घालुओं ने घाटों पर दान पूजन कर पवित्र स्नान किया। इस स्नान में भारी संख्या में श्रद्धालुओं के आने का अनुमान लगाया जा रहा है। स्नान को देखते हुए पुलिस की तरफ से संशोधित यातायात प्लान सोमवार की रात से ही शुरू कर दिया गया था।

अर्द्धकुंभ में भक्तों की सुविधा के लिए किया गया इंतजाम

बैसाखी के मौके पर हो रहे स्नान के दौरान करीब दस हजार पुलिसकर्मी और हजारों की संख्या में सिविल प्रशासन के अधिकारी और कर्मचारी भी तैनात रहेंगे।

मेला प्रशासन ने भीड़ को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के साथ श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए खास इंतजाम किए हैं।

राज्यपाल के सलाहकार प्रकाश मिश्र और रविंद्र सिंह ने मेला और जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ मेला क्षेत्र का भ्रमण कर तैयारियों का जायजा लिया। मेला प्रशासन को अर्द्धकुंभ में लाखों श्रद्धालु के पहुंचने की उम्मीद है। अमावस्या होने के कारण श्रद्धालु नारायणी शिला और कुशावर्त जाकर पिंड श्राद्ध भी संपन्न कराएंगे। आईजी जीएस मर्तोलिया ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से प्रभावी कदम उठाए गए हैं। हर स्तर पर पैनी नजर रखी जा रही है।

आपातकालीन सेवा के लिए प्रशासन तैयार

राज्यपाल केके पॉल के सलाहकार रविंद्र सिंह और प्रकाश मिश्रा ने बुधवार की शाम हरिद्वार पहुंचकर अर्द्धकुंभ मेले और चारधाम यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने अर्द्धकुंभ मेले में आने वाले स्नान पर्वों के सफल आयोजन के लिए प्रभावी इंतजाम करने के निर्देश दिए।अधिकारियों को उन्होंने हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराने को कहा है। समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए आपातकालीन योजना तैयार रखें। जन समस्या निवारण प्रकोष्ठ की सूचना को ही प्रमाणिक माना जाए, किसी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दिया जाए। बैठक में सलाहकारों ने निर्देश दिए कि अर्द्धकुंभ मेला की समाप्ति के बाद कुंभ मेले के सफल आयोजन की तैयारियां भी आरंभ कर दी जाएं।

loading...
शेयर करें