IPL
IPL

अर्द्धुकंभ अटैक के लिये आतंकवादियों की हुई थी फंडिंग

देहरादून। अर्द्धकुंभ अटैक की योजना कई दिनों से बनाई जा रही थी। आतंकी ट्रेन और महत्वपूर्ण स्थानों पर कई ब्लास्ट करने की फिराक में थे। इस बात का खुलासा आईबी और उत्तराखंड पुलिस के ज्वांइट ऑपरेशन में गिरफ्तार चारों आंतकियों ने किया है। बता दें कि आईबी ने स्पेशल ऑपरेशन चलकार हरिद्वार अर्द्धकुंभ अटैक से पहले ही मंगलौर, रुड़की और कलियर से चार आतंकियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दावा किया है कि अर्द्धकुंभ अटैक के लिए इन्हें अच्छा खासा फंड भी मिला था।

ये भी पढ़ें – ISIS के चार आतंकी गिरफ्तार, अर्द्धकुंभ हमले की थी साजिश

अर्द्धकुंभ अटैक 2

अर्द्धकुंभ अटैक के लिये आये आतंकियों से दिल्ली में पूछताछ

आईजी गढ़वाल रेंज संजय गुंज्याल का कहना है कि इन्हें विस्फोटक पदार्थों की खरीददारी के लिए मदद मिल थी, इनके पास से कई स्थानों के नक्शे भी बरामद हुए हैं। पुलिस का कहना है कि बड़े आंतकी संगठनों से चारों आंतकियों ने सोशल मीडिया के जरिए संपर्क साधा था जिससे ये माना जा रहा है कि फंडिंग विदेशी संगठनों से की गयी है। फिलहाल चारों से दिल्ली में पूछताछ चल रही है। अर्द्धकुंभ मेले में देश-विदेश से भारी संख्या में श्रद्धालु आ रहे हैं। जिससे आंतकियों के नापाक इरादे आसानी से पूरे हो सकते थे।

एडीजी लॉ एण्ड ऑर्डर का कहना है कि अभी भी स्पेशल सर्च ऑपरेशन जारी है। आंतकियों से मिली अहम जानकारी के आधार पर कई स्थानों पर अभी भी छापेमारी की कार्रवाई चल रही है। चारों आंतकियों की गिरफ्तारी के बाद पूरे प्रदेश के साथ ही पड़ोसी राज्यों में भी हाई अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही मेला क्षेत्र की चौकसी और भी बढ़ा दी गई है। अधिकारियों के मुताबिक फिलहाल अर्द्धकुंभ पूरी तरह सुरक्षित है लेकिन जानकारों का कहना है कि खतरा अभी भी टला नहीं है।

ये भी पढ़ें – अर्द्धकुंभ में ड्रोन से रहेगी बदमाशों पर खुफिया नजर

अर्द्धकुंभ अटैक 4

बॉर्डर पर बढ़ाई गई चौकसी

मंगलौर में चार संदिग्ध आतंकवादियों की गिरफ्तारी के बाद अब अर्द्धकुंभ मेला प्रशासन और भी ज्यादा सतर्क हो गया है। आईजी ने बुधवार को यूपी से सटे हुए सभी बॉर्डर्स पर सघन चेकिंग अभियान चलाने के आदेश दिए और बॉर्डरों पर अतिरिक्त फोर्स भी लगाई गई है। आईजी का कहना है कि उत्तराखंड में कोई ऐसी बड़ी घटना न हो जो प्रदेश और हरिद्वार में चल रहे अर्द्धकुंभ के लिए हानिकारक साबित हो। उन्होंने कहा कि हमें सूचना तंत्र बढ़ाना चाहिए साथ ही आईबी की सूचनाओं पर बहुत ही गंभीरता से लेने की सख्त जरूरत है। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को और अलर्ट रहने के साथ ही सर्च बढ़ाने को कहा।

कुमाऊं मंडल में भी अलर्ट के निर्देश

हरिद्वार में पकड़े गए आतंकी और गणतंत्र दिवस के चलते कुमाऊं मंडल में भी अलर्ट जारी किया गया है। डीआईजी पुष्कर सिंह सैलाल ने मंडल के सभी एसएसपी और एसपी को अपने क्षेत्रों में कड़े सुरक्षा व्यवस्था इंतजाम करने के निर्देश जारी किए। साथ ही सत्यापन की कार्रवाई और अंतरजनपदीय और अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर चौकसी बढ़ाने और गश्त बढ़ाने के भी निर्देश जारी किए हैं। इसके अलावा झुग्गी झोपड़ियों में आने वाले संदिग्धों पर कड़ी नजर और रात्रि गश्त बढ़ाने के निर्देश भी दिये हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button