मिलिए एक आतंकी से जिसे मिले दस हजार शादी के प्रपोजल

0

नई दिल्ली। आईएसआईएस का नाम लेते ही दिमाग में सिर्फ नफरत ही आती है। लेकिन इससे इतर कुछ ऐसी खबरें भी हैं जिससे आप चौंक जाएंगे। आईएसआईएस का बैचलर आतंकी इशरफिल यिलमाज है जिसे एक-दो नहीं पूरे दस हजार शादी प्रपोजल मिलेे थे।

आईएसआईएस का बैचलर आतंकी इशरफिल यिलमाज

आईएसआईएस का बैचलर आतंकी इशरफिल यिलमाज की किस्‍मत में लिखा था कुछ और

आईएसआईएस का बैचलर आतंकी इशरफिल यिलमाज को कुछ लोग हीरो समझते हैं लेकिन वह जैसा दिखता है वैसा हैै नहीं। बात अगर लडि़कयों की करें तो वे इशरफिल की इतनी फैन हो गई थी कि उसे ऑनलाइन शादी के लिए प्रपोज तक कर चुकी हैं। आप सुनकर हैरत में पड़ जाएंगे कि एक दो नहीं पूरे दस हजार शादी के प्रपोजल इशरफिल के पास आए थे। इशरफिल आईएस का सबसे मोस्ट एलिजिबल बैचलर था।

किस्‍मत में लिखी थी मौत

आईएस के बहकावे में खून की नदियां बहाने के आदी इशरफिल को दस हजार में से किसी लड़की न तो मोहब्बत हासिल हुई,  न जिंदगी। सिर्फ 28 साल की उम्र में इशरफिल सीरिया के रक्का में हुई बमबारी में कुंवारा मारा गया।

रॉयल नीदरलैंड्स आर्मी छोड़कर आईएस में शामिल हुआ

तुर्की मूल के नीदरलैंड के इस नौजवान को रॉयल नीदरलैंड्स आर्मी में नौकरी मिली थी। अपने देश के लिए कुछ करने का मौका मिला था लेकिन आईएस का ऑनलाइन जहर कुछ इस तरह इशरफिल की जिंदगी में घुसा कि उसकी दुनिया ही बदल गई। 2013 में रॉयल नीदरलैंड्स आर्मी की नौकरी छोड़कर इशरफिल आईएस के सुप्रीमो बगदादी की आर्मी में शामिल हो गया।

हथियार के तरीकों का बदला रूप

हथियार तो उसके पास पहले से थे लेकिन हथियार के इस्तेमाल के तरीके बदल गए। नीदरलैंड्स की हिफाजत के लिए मिली हथियार चलाने की ट्रेनिंग उसने बगदादी के लिए इस्तेमाल करनी शुरू की। कितने लोगों को मारा, शायद ही उसकी गिनती इशरफिल ने खुद कभी की होगी।

इंटरनेट पर हो चुका है लोकप्रिय

इशरफिल इंटरनेट पर लोकप्रिय था लेकिन उसमें आईएस का जहर भरा हुआ था। इसलिए सोशल साइट टम्बलर ने उसका अकाउंट बंद कर दिया था। टम्बलर साइट पर ही इशरफिल ने एक फोटो पोस्ट की थी जिसमें उसने हाथों में एक बिल्ली के बच्चे को गोद लिया था। एक शॉपिंग स्टोर में बच्चे के साथ खेलते हुए तस्वीर भी उसने पोस्ट की थी।

पेरिस में आतंकी हमले को इशरफिल ने जायज बताया

ऐसी मीडिया रिपोर्ट हैं कि ऐसी फोटोज की लड़कियां दीवानी हो गईं और उसके अकाउंट में एक एक करके 10 हजार शादी के प्रपोजल मिल गए। लड़कियां उसकी मानवीय संवेदना की दीवानी थी। लेकिन वो दीवाना था आईएस के खतरनाक और खूनी प्लान का। गे को बिल्डिंग से फेंक देने की सजा का हिमायती था। पेरिस में आतंकी हमले को उसने जायज बताया।

सीरिया में हुई मौत

सीरिया में राष्ट्रपति अल बसर के खात्मे के मिशन पर वो सीरिया में विद्रोहियों के साथ था। लेकिन अपने देश नीदरलैंड्स पर हमला उसे बर्दाश्त नहीं था। ब्रिटिश बच्चों को आईएस की ट्रेनिंग देना उसकी ड्यूटी थी। बगदादी ने उसमें इतना जहर भरा था कि वो खुद को खुदकिस्मत मानता था कि वो आईएस के लिए लड़ाई लड़ रहा है। बगदादी ने अपने चेलों को ख्वाब दिखाए। जेहाद के नाम पर जन्नत के भी, हुस्न औऱ हूर के भी। हाथ में हथियार थमाया तो मैट्रीमोनी भी चलाता रहा।

loading...
शेयर करें