आईएसआईएस के लिए पुलिस अधिकारी को गोली मारी

वाशिंगटन। फिलाडेल्फिया के एक पुलिस अधिकारी को एक हमलावर ने गोली मारकर बुरी तरह घायल कर दिया। हमलावर ने कहा कि ऐसा उसने आईएसआईएस के लिए किया है। पुलिस विभाग की तरफ से यह जानकारी दी गई। 30 वर्षीय एडवर्ड आर्चर ने पुलिस अधिकारी पर 13 गोलियां चलाई, जिसके तुरंत बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस आयुक्त रिचर्ड रॉस ने बताया कि पूछताछ के दौरान हमलावर ने बताया कि उसने ऐसा इस्लाम के लिए किया। उन्होंने बताया कि हमलावर ने कहा, “मैं अल्लाह का अनुसरण करता हूं। मेरी निष्ठा आईएसआईएस के प्रति है और इसलिए मैंने ऐसा किया।”

ISIS

आईएसआईएस में श्रीलंका के कई लोग शामिल

इससे पहले ये बात सामने आई थी कि श्रीलंका के कई लोग आईएसआईएस में शामिल हो रहे है। श्रीलंका के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना था कि ऐसी रपट मिल रही हैं कि कम से कम 36 श्रीलंकाई नागरिक आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में शामिल होने के लिए सीरिया रवाना हो चुके हैं। श्रीलंका के रक्षा सचिव करुणासेना हेतियाराछी ने कहा कि रपटों के मुताबिक ये श्रीलंकाई अपने परिजनों के साथ रवाना हुए हैं। इनमें महिलाएं और बच्चे भी हैं। अबु शुरैह सैलानी नाम का आदमी पहला श्रीलंकाई था, जिसने आईएसआईएस की सदस्यता ली थी। माना जा रहा है कि सीरिया में जुलाई में हुए हवाई हमले में उसकी मौत हो चुकी है।

आईएस के लड़ेंगे मुस्लिम नौजवान 

आतंकी संगठन आईएसआईएस के बढ़ते प्रभाव को ख़त्म करने के लिए मुंबई के मुस्लिम समुदाय ने अब कड़ा रुख अख्तियार किया है। मुस्लिम नौजवान इस आतंकी संगठन के झांसे में न आए इसलिए टास्क फ़ोर्स बनाने का निर्णय मुस्लिम संस्थाओ ने लिया है। यह टास्क फ़ोर्स मुस्लिम नौजवानों को आईएसआईएस की गतिविधियों से बचाने के लिए जागरूक करेगा और साथ ही यह बताने की कोशिश भी करेंगा की आईएसआईएस इस्लाम विरोधी है। हाल ही में गए मुंबई के मालवानी का लड़का रियाज इसका सबसे बड़ा उदहारण है। वहीं पुणे की लड़की का भी आईएसआईएस के एजेंट ने माइंडवाश कर दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button