आईएस ने बताया बेल्जियम हमलावर को ‘खलीफा का लड़ाका’

ब्रसेल्स: आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने दावा किया है कि बेल्जियम के शहर लीज में दो पुलिस अधिकारियों और एक नागरिक की हत्या करने वाले हमलावर ‘खलीफा का लड़ाका’ था।

आईएस समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, बुधवार को टेलीग्राम सोशल प्लेटफॉर्म पर जारी एक संक्षिप्त संवाद में आईएस के मीडिया विंग के अमाक ने कहा कि सीरिया और इराक में अमेरिकी नेतृत्व में अंतर्राष्ट्रीय गठबंधन के आईएस के खिलाफ लड़ने के जवाब में देशों पर हमला करने के आह्वान के परिणामस्वरूप मंगलवार को यह हमला किया गया।

बेल्जियम के अभियोजकों ने बुधवार को इस बात की पुष्टि की थी कि शुरुआती जांच में आईएस द्वारा हमले के अंजाम देने के संकेत मिले हैं।

अभियोजकों ने कहा, “हमने इन तथ्यों के आधार पर सोचा कि यह वैसी ही कार्यप्रणाली है, जिसे आईएस अपने कुछ वीडियो में दिखाता है, तथ्य यह है कि इसे करने वाला शख्स हमले के दौरान चिल्लाता है, ‘गॉड इज ग्रेट’ (ईश्वर महान है।’ और वह कट्टरपंथी लोगों को संपर्क में था।”

संदिग्ध को पुलिस ने मार गिराया। बाद में उसकी पहचान 31 वर्षीय बेंजामिन हरमैन के रूप में हुई, जो बेल्जियम में जन्मा था और छोटे-मोटे अपराधों के लिए जेल भी जा चुका था।

बेंजामिन ने 45 और 53 साल के दो नगरपालिका पुलिसकर्मियों पर चाकू से हमला किया और फिर उनकी उन्हीं के बंदूकों से गोली चलाकर हत्या कर दी। फिर उसने 22 वर्षीय एक युवक की हत्या कर दी। पुलिस से मुठभेड़ में हमलावर भी मारा गया।

Related Articles

Back to top button