आगरा में नकल: मोबाइल को बनाया हथियार

0

आगरा। बोर्ड परीक्षा को नकल माफिया न मजाक बना दिया है। केंद्र में कक्ष निरीक्षक मोबाइल से पेपर बाहर भेज रहे है और थोड़ी देर में उस पर उत्तर आ जाते है। इसके बाद बोल बोल कर नकल कराने का सिलसिला शुरु होता है। ऐसे ही एक केंद्र पर बुधवार को बेसिक शिक्षा अधिकारी ने छापा मारा। यहां से 10 मोबाइल और भारी मात्रा में नकल सामग्री बरामद की गई है। केंद्र को डिबार करने की संस्तुति कर दी गई है।

आगरा में नकल

आगरा में नकल: मोबाइल से हो रही थी नकल

बुधवार सुबह की पाली में हाईस्कूल सामाजिक विज्ञान की परीक्षा थी। बीएसए का सचल दस्ता करीब साढे आठ बजे पंडित सत्यप्रकाश इंटर कालेज जउपुरा पर पहुचा। बीएसए को देखकर केंद्र में भगदड़ सी मच गई। कमरों से धड़ाधड़ नकल फेंकी जाने लगी। बीएसए ने कक्ष निरीक्षकों की चेकिंग ली उसे उनके पास से स्मार्ट फोन बरामद हुए। कुछ छात्रों के पास भी मोबाइल मिले।

Agra Cheating1

जब्त की गई नकल सामग्री

इसके अलावा एक कॉपी भी मिली। बीएसए ने केंद्र को डिबार करने की संस्तुति कर दी है। नकल सामग्री और मोबाइल फोन जब्त कर लिए गए है। इसके साथ अछनेरा के हर प्रसाद इंटर कॉलेज में भी सामुहिक नकल मिलने पर बीएसए ने परीक्षा निरस्त करने के साथ सेंटर डिबार करने की संस्तुति कर दी है।

आगरा में नकल: सेंटर के बाहर लिखी जा रहीं बी कापियां

यूपी बोर्ड परीक्षा में विद्यार्थियों पास कराने के लिए तमाम गलत तरीके अपनाए जा रहे हैं। परीक्षा कक्ष में तमाम परीक्षार्थी ‘डमी’ के तौर पर बैठ रहे हैं और उनकी कापियां बाहर लिखी जा रही हैं। ‘ए’ कापियां कोडिंग के चलते बदली नहीं जा सकतीं, ऐसे में ‘बी’ कापियां बाहर लिखी जा रही हैं और उसके अंदर के पन्ने, ‘ए’ कापी में अटैच कर दिए जा रहे हैं। केंद्र व्यवस्थापक और कक्ष निरीक्षकों की मिलीभगत से प्रश्नपत्र व्हाट्स एप के जरिए भेज दिया जा रहा है।

loading...
शेयर करें