आग से राख हुई झुग्गी बस्ती

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में रेलवे स्टेशन के पास देर रात एक झुग्गी बस्ती में आग लग गई। झुग्गिवासियों ने किसी तरह झोपड़ियों से बाहर निकलकर अपनी जान बचाई। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची अग्निशमन विभाग की टीम ने आग पर काबू पाया। पुलिस के मुताबिक, जिस बस्ती में आग लगी उसमें करीब 350 झोपड़ियां थीं। इस हादसे  में करीब 10 झोपड़ी और एक गोदाम पूरी तरह जलकर खाक हो गए। जांच के बाद ही आग लगने के कारण का पता चल पाएगा। इस दुर्घटना में बस्ती में रहने वालों का लाखों रुपये का नुकसान हुआ है।

आग बुझाने के लिए आई गाड़ियां

 

आग पर काबू पाने के लिए हापुड़ के अलावा गाजियाबाद से भी फायर ब्रिगेड की गाड़ी बुलाई गई। अग्निशमन विभाग के अधिकारी आर.एन. यादव ने बताया, “आग पर काबू पा लिया गया है। आग पहले बस्ती के पास कचरे के ढेर में लगी और उसके बाद चारों तरफ फैल गई।” बस्ती में रहने वाले नूरहसन का कहना है कि साल 2000 में भी इस झुग्गी बस्ती में हादसा हो गया। उस वक्त आग में उसके तीन बच्चे जलकर मर गए थे।

आग

समय से नहीं पहुंची फायर ब्रिगेड

 

नूरहसन का कहना है कि सूचना मिलने के काफी देर बाद फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची। आरोप लगाया जा रहा है कि जब फोन लगाया गया तो फायर स्टेशन के फोन बंद मिले। बस्ती निवासी योगेश ने बताया कि  उन्होंने खुद ही पानी डालकर उसे बुझाने का प्रयास किया, लेकिन लौ बढ़ती चली गई। बताया जा रहा है कि जिस समय हादसा हुआ उस वक्त सभी लोग अपनी झोपड़ी में सोए हुए थे। अचानक एक व्यक्ति की आंख खुली और उसने आग बस्ती की ओर बढ़ती देखी। लोगों का कहना है कि समय रहते  अगर पता न चलता तो झोपड़ी में सो रहे लोग जिंदा नहीं बच पाते।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button