आजम खान ने कहा-हाईकोर्ट के इस फैसले को अलविदा का तोहफा समझना चाहिए

0

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता ने आजम खान ने हाईकोर्ट के उस फैसले पर ख़ुशी जाहिर की है जिसमे कोर्ट ने सरकार द्वारा बर्खास्त किये गए शिया वक्फ बोर्ड के 6 सदस्यों को बहाल करने का आदेश दिया गया है। इस फैसले पर बोलते हुए आजम खान ने कहा कि इस बहाली को अलविदा का तोहफा समझना चाहिए। क्योंकि सरकार ने तो बिना किसी नोटिस के उन्हें हटा दिया था।

आजम खान

आजम खान ने कहा कि बिना किसी नोटिस के ही सरकार ने किया बर्खास्त 

इसके बाद उन्होंने यूपी सरकार पर जमकर निशाना लगाया। खान ने कहा कि सरकार ने बिना किसी आरोप और जांच के ही बोर्ड के 6 सदस्यों को बर्खास्त कर दिया। जालिम हुक्मरान को अदालत ने अपनी हदों में रहने का आदेश दिया है। सरकार के उस नादिरशाही हुक्म को खारिज कर दिया है।

उन्होंने कहा कि जिसमें सदस्यों की सदस्यता खारिज हो गयी थी,वो बहाल हुई है। बता दें कि शिया व सुन्नी वक्फ बोर्ड में सम्पत्ति को लेकर अनियमितता व घोटाले की आशंका के मद्देनजर यूपी सरकार ने मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की थी और बोर्ड के छह सदस्यों को हटा दिया था।

शिया वक्फ बोर्ड में 10 सदस्य हैं। इनमें से छह सदस्य अखिलेश यादव सरकार ने नामित किए थे। गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने गत 16 जून को शिया वक्फ बोर्ड के छह सदस्यों अख्तर हसन रिजवी, सैयद अली हैदर, अशफाक जैदी, मौलाना अजीम हुसैन जैदी, आलिमा जैदी तथा नजमुल हसन रिजवी को संपत्तियों में अनियमितता तथा धांधली के आरोप में हटा दिया था।

loading...
शेयर करें