आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से संघर्ष में 19 सीरियाई सैनिकों ने गंवाई अपनी जान

दमिश्क। सीरिया की राजधानी दमिश्क के दक्षिणी इलाकों में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के कब्जे बाले हिस्से को छुड़ाने के प्रयास के तहत आईएस से संघर्ष में पिछले 24 घंटों में सीरियाई सेना के 19 सैनिकों की मौत हो चुकी है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार सीरियाई मानवाधिकार पर्यवेक्षक ने कहा कि यरमौक में आईएस के कब्जे बाले फिलिस्तीनी शरणार्थी शिविर तथा नजदीकी अल-हजर अल-असवाद और अल-तादामन में शुक्रवार को हिंसा शुरू हुई।

युद्ध पर नजर रखने वाले विभाग ने दावा किया कि राष्ट्रपति बशर-अल-असद के समर्थन वाली सेना ने अल-हजर अल-असवद के अधिकतर हिस्से पर कब्जा कर लिया लेकिन आईएस ने जवाबी हमला करते हुए उन्हें वापस कर दिया।सीरियाई सेना अभी भी आईएस पर तोपों और लड़ाकू विमान से बमबारी कर रही थी।

एसओएचआर के अनुसार सरकार ने 19 अप्रैल से जब से आईएस के कब्जे वाले दमिश्क को आजाद करने के लिए संघर्ष शुरू किया है तब से 142 सीरियाई सैनिकों की मौत हो चुकी है जबकि आईएस के 111 आतंकवादियों की मौत हुई है।

आईएस ने यरमौक में 2015 में कब्जा किया था। संयुक्त राष्ट्र ने तब कहा था कि वहां रह रहे सैकड़ों लोगों को खाना, स्वच्छ पेयजल, बिजली और अन्य जरूरी सेवाओं के बिना जीना पड़ रहा है। सीरिया की राजधानी दमिश्क इन दिनों किसी न किसी कारणों की वजह से खासी चर्चा में है।

Related Articles