‘बिना आंखों पर पट्टी बांधे भी मेरे साथ मेरे बच्चों के सामने रेप करता रहा’

0

बगदाद। आतंकी संगठन आईएस ने यजीदी महिलाओं के बाद अब सुन्नी अरब महिलाओं को भी अपना शिकार बना रहा है। मानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वॉच की रिपोर्ट के मुताबिक, अरब की कई सुन्नी महिलाओं को मनमाने ढंग से कब्जे में रखने, उनके साथ मारपीट करने, जबरन निकाह के लिए मजबूर करने और दुष्कर्म का शिकार बनाने के मामले सामने आए हैं। जिहादियों के नियंत्रण वाले हवीजा क्षेत्र से भाग निकली कई सुन्नी महिलाओं के बयानों के आधार पर इसका पता चला है।

आतंकी संगठन आईएस

आतंकी संगठन आईएस कर रहा जबरन निकाह और दुष्कर्म

ह्यूमन राइट्स वॉच ने एक 26 वर्षीय महिला के हवाले से बताया है कि हवीजा पहुंचकर आईएस लड़ाकों ने वहां से भागने की कोशिश में लगी कई महिलाओं को जबरन हिरासत में ले लिया। उन्होंने महिलाओं को कहा कि उनके पतियों के भागने के कारण अब वे पतित हो चुकी हैं और इस लिए उन्हें फिर से स्थानीय आईएस लड़ाकों से निकाह करना ही होगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिन महिलाओं ने इससे मना किया उनकी आंखों पर पट्टी बांधकर प्लास्टिक के तारों से खूब मारा गया। उन्हें हाथों से बांध कर लटकाया गया और फिर उसके साथ दुष्कर्म भी किया गया। इस महिला ने आप बीती सुनाते हुए कहा कि एक आदमी पूरे महीने रोज रोज आकर बिना आंखों पर पट्टी बांधे भी मेरे साथ मेरे बच्चों के सामने रेप करता रहा।

ह्यूमन राइट्स वॉच में मध्यपूर्व की निदेशिका लामा फाकी ने कहा कि आईएस के नियंत्रण में रहने को मजबूर सुन्नी महिलाओं के साथ होने वाले यौन दुर्व्यवहार के मामलों के बारे में बहुत कम पता चलता है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय और स्थानीय प्रशासन इससे पीड़ित महिलाओं की किसी भी तरह से मदद करें।

loading...
शेयर करें