प्यार में पागल थे दोनों…शादी नहीं कर पाए तो ये क्या किया….

0

फतेहपुर। वो दोनों केवल शादी करना चाहते थे लेकिन परिवार वाले तैयार नहीं थे। दोनों को कुछ समझ नहीं आया तो आखिर में ये कदम ही उठा लिया। नंदनाखुर्द में शुक्रवार की सुबह एक प्रेमी युगल ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। यह प्रेमी युगल अलग-अलग जाति से ताल्लुक रखते थे। इसी कारण यह रिश्ता उनके परिवार को पसंद नहीं था। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

kelly-and-brian011

आत्महत्या का ये है पूरा मामला

 

नंदनाखुर्द के रामनरेश रावत ने बताया कि उनकी बेटी रेनू(19 )के संबंध गांव के महेंद्र प्रताप वर्मा के रिश्तेदार रामनगर के अतरौलिया के संदीप वर्मा (22)से थे। दोनों विवाह करना चाहते थे, लेकिन वह व लड़के के पिता इस विवाह से संतुष्ट नहीं थे। शुक्रवार की सुबह करीब चार बजे कीरतपुर गांव के लोगों ने सूचना दी कि रेनू व संदीप गांव के बाहर बाग में पड़े तड़प रहे हैं। ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो रेनू दम तोड़ चुकी थी, लेकिन संदीप तड़प रहा था। संदीप ने केजीएमयू ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके से सल्फाश की शीशी व नारियल की टूटी हुई रस्सी बरामद की। रामनरेश के मुताबिक उसकी बेटी रात में कब घर से चली गई, उन लोगों को पता नहीं चला। मौके से मिली नारियल की टूटी मिली रस्सी का एक सिरा पास के ही आम के पेड़ की डाल से लटका मिला। इससे आशंका जताई जा रही है कि प्रेमी युगल ने पहले पेड़ से लटकने का प्रयास किया था। सफल न होने पर विषाक्त पदार्थ खा लिया।

पहले लिखवा लिया था नहीं होगी कोई जिम्मेदारी

 

ग्रामीणों ने बताया कि रेनू के मकान के पास ही संदीप वर्मा के रिश्तेदार महेंद्र प्रताप वर्मा का मकान है। करीब दो माह पहले संदीप ने रेनू के पिता व अपने रिश्तेदार महेंद्र को फोन कर कहा कि वह दोनों कोर्ट मैरिज कर चुके हैं। दोनों को विदा करा दें। इस पर चार जनवरी को रेनू, रेनू के पिता, संदीप, संदीप के रिश्तेदार महेंद्र बातचीत के लिए महादेव तालाब पहुंचे। काफी दबाव पर संदीप के पिता प्रदीप वहां पर पहुंचे, लेकिन उन्होंने विवाह पर अपनी सहमति से इनकार कर दिया। इसके बाद प्रेमी युगल से यह लिखा लिया गया कि यदि वह खुद विवाह करते हैं तो भविष्य में किसी पक्ष के परिवार की जिम्मेदारी नहीं होगी।

loading...
शेयर करें