आपदा: 52 लोगों ने किया राहत का दुरुपयोग

पिथौरागढ़। उत्तराखंड में 2013 में आई प्राकृतिक आपदा में अपना सबकुछ गंवाने वालों को राज्य सरकार ने मकान बनवाने के लिए सात लाख की धनराशि मुहैया कराई थी। कुछ लोगों ने तो मकान बनवा लिए लेकिन उनमें से कुछ लोगों ने उस राहत का दुरुपयोग किया। राज्य सरकार उन लोगों को अब नोटिस भेज रही है। नोटिस में कहा गया है कि तो या तो मकान बनवाओ नहीं तो राशि वापस दो।

uttrakhand

राहत का दुरुपयोग

प्रशासन ने 52 लाभार्थियों को नोटिस जारी कर कहा है कि अगर उन्होंने 31 जनवरी तक भवनों का निर्माण शुरू नहीं किया तो, उन्हें दी गई सात लाख की धनराशि वापस ले ली जाएगी। राज्य की हरीश रावत सरकार ने कहा है कि राहत का दुरुपयोग करने वालों पर सख्‍ती करनी होगी।

यह भी पढ़ें: परशुराम मंदिर में टूटी चार सौ साल पुरानी परंपरा

52 लोगों ने नहीं बनवाए मकान
सरकार ने जिले में 652 आपदा प्रभावितों को मकान बनाने के लिए 7 लाख रुपए की धनराशि दी है। लेकिन इनमें से 52 लोगों ने पैसा लेने के बाद भी मकान नहीं बनाया है।

यह भी पढ़ें: सीएम रावत फेसबुक पर लखपति बने

सभी लोगों को भेजी गई नोटिस
पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी एच.सी. सेमवाल ने बताया कि प्रशासन की ओर से ऐसे सभी लोगों को नोटिस भेज दिए गए है। उन्होंाने सभी लोगों से इस पर अमल करने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें: ई गवर्नेंस का बढ़ा महत्व, विधानसभा होगी पेपरलैस

हजारों की गई थी जान
2013 में आई भीषण प्राकृतिक आपदा में जहां हजारों लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी, वहीं सैकड़ों लोगों ने अपने आशियाने भी गंवा दिए थे। इस प्राकृतिक आपदा से उत्‍तराखंड बिल्‍कुल टूट गया था। इस आपदा ने केदारनाथ की यात्रा करने गए यात्रियों को भी मौत का सामना करना पड़ा था। केदारनाथ का मंदिर भी किसी तरह सुरक्षित बच पाया। आज भी उन लोगों को खौफ के मंजर याद हैं जिन्‍होंने अपनों को खोया था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button