आप विधायक प्रमिला टोकस के पति गिरफ्तार

नई दिल्ली। आप विधायक प्रमिला टोकस के पति धीरज टोकस को गिरफ्तार किया गया है। प्रमिला टोकस के पति को दक्षिण दिल्ली क्षेत्र में केंद्र सरकार के एक कर्मचारी को कथित तौर पर अपने कर्तव्य का निर्वहन करने से रोकने का आरोप है। आप विधायक प्रमिला टोकस  के पति पर ये भी इल्ज़ाम लगाया गया है कि उन्होंने सरकारी कर्मचारी पर हमला भी किया।

आप विधायक प्रमिला टोकस

पहला मामला 15 दिसंबर को सीपीडब्ल्यूडी के कार्यपालक अभियंता द्वारा मारपीट और गाली गलौज करने एवं सरकारी काम में बाधा डालने की शिकायत पर दर्ज किया गया था। दूसरा मामला 18 दिसंबर को आरके पुरम सेक्टर-1 निवासी एक महिला के घर में घुसकर मारपीट और गाली गलौज करने एवं जातिसूचक शब्दों के प्रयोग करने का है। इस मामले में महिला ने धीरज के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। दोनों मामले गैर जमानती हैं।

 

पुलिस के अनुसार, 15 दिसंबर को सीपीडब्ल्यूडी के कार्यपालक अभियंता ज्ञानीराम के नेतृत्व में सीपीडब्ल्यूडी की टीम आरके पुरम सेक्टर-1 स्थित मदर डेयरी के पीछे स्थित झुग्गियां तोड़ने गई थी। यहां स्थानीय आप विधायक प्रमिला टोकस के पति धीरज टोकस अपने कार्यकर्ताओं के साथ ज्ञानीराम और अन्य कर्मचारियों से उलझ गए और गाली गलौज करने लगे। साथ ही झुग्गी हटाने के काम को रुकवाने का भी प्रयाय किया। उनका आरोप था कि विभाग के अधिकारी वे झुग्गियां नहीं तोड़ रहे हैं, जिनके लिए नोटिस था। साथ ही उन्होंने वहां उपस्थित महिलाओं को भी कर्मियों पर हमला करने के लिए उकसाया था। इसके बाद कुछ महिलाओं ने अभियंता पर हमला भी किया था। पुलिसकर्मियों द्वारा बीचबचाव पर मामला शांत हुआ था।

आप विधायक प्रमिला टोकस पर भी आरोप

वहीं, दूसरे मामले में सेक्टर-1 निवासी गीता के देवर बलदेव के घर में 15 दिसंबर की दोपहर आम आदमी पार्टी की प्रमिला टोकस और उनके पति अपने कार्यकर्ताओं के साथ जबरन घुसकर गाली गलौज की थी। उस वक्त महिला का देवर और देवरानी घर में नहीं थे। वे बार-बार यही पूछ रहे थे कि किसने तुम लोगों को यह घर रहने के लिए दिया है। वे लोग महिला के देवर को गालियां दे रहे थे और जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर रहे थे। रोकने पर महिला से उन लोगों ने धक्कामुक्की की। साथ ही बार-बार बलदेव को महिला के साथ गलत काम करने के झूठे मामले में फंसाने की भी धमकी दे रहे थे। विधायक के साथ आए लोग जबरन उसके घर का वीडियो भी बना रहे थे। तभी महिला की देवरानी भी वहां पहुंच गई। उसने अपने पति को गालियां देने से मना किया तो विधायक के साथ आए लोगों ने उसके साथ भी अभद्र भाषा का प्रयोग किया था।

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button