ज्वैलर्स के साथ आए केजरीवाल, मोदी को नसीहत-छोडि़ए जेटली का साथ

0

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि आभूषणों पर उत्पाद शुल्क लागू किए जाने से देश में फिर से इंस्पेक्टर राज आ जाएगा। केजरीवाल ने यहां रविवार को जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे सर्राफा व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा, “सर्राफा व्यापारियों से सलाह लिए बिना उत्पाद शुल्क लागू किया जा रहा है। मैने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि इस कर से सरकार को कोई लाभ नहीं होगा, बल्कि इससे भ्रष्टाचार बढ़ेगा। एक्साइज इंस्पेक्टर व्यापारियों से रिश्वत मांगेंगे।”

आभूषणों पर उत्पाद शुल्क

आभूषणों पर उत्पाद शुल्क के खिलाफ केजरीवाल

केजरीवाल ने यह भी कहा कि उन्होंने इस मुद्दे पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भी चर्चा की है। केजरीवाल ने कहा, “जब संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार सत्ता में थी, तब प्रणब मुखर्जी ने भी तत्कालीन केंद्रीय वित्त मंत्री के तौर पर 2012 में आभूषणों पर उत्पाद शुल्क लगाने का प्रस्ताव रखा था। लेकिन, सर्राफा व्यापारियों के विरोध के बाद उन्होंने 22 दिनों बाद इसे वापस ले लिया था। राष्ट्रपति ने भी इस बात पर सहमति जताई है कि उत्पाद शुल्क से देश में इंस्पेक्टर राज आएगा। ”

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उन्होंने भी उत्पाद शुल्क का विरोध किया था।केजरीवाल ने कहा, “2012 में मोदी ने भी लिखा था कि उत्पाद शुल्क से देश में इंस्पेक्टर राज आएगा। लेकिन, अब प्रधानमंत्री के तौर पर उन्होंने वही कर लगा दिया है, जिसका उन्होंने मुख्यमंत्री के तौर पर विरोध किया था। अब क्या बदल गया है?”

केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार अगर अपना राजस्व बढ़ाने की इतनी इच्छुक है, तो उसे बड़े औद्योगिक घरानों से पैसा वसूलना चाहिए। उन्होंने कहा, “बैंक देश के 10 बड़े औद्योगिक घरानों को दिया गया 7.3 लाख करोड़ का कर्ज वसूलने में नाकाम रहे हैं। उन्होंने तो कोई ब्याज भी नहीं चुकाया। सरकार अगर यह पैसा वसूल पाती है, तो उसे आम आदमी पर अनावश्यक कर नहीं लगाने पड़ेंगे।”

वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने मोदी को जेटली का साथ छोड़ने की सलाह दी। केजरीवाल ने कहा, “जेटली को कोई चुनाव नहीं लड़ना, लेकिन मोदी जी आपको भविष्य में फिर से जनता का सामना करना है। आप मुझसे अधिक अनुभवी हैं, लेकिन फिर भी मैं आपको सलाह देता हूं कि आप उनका (जेटली) साथ छोड़ दीजिए, वर्ना आप मुश्किल में पड़ जाएंगे।” आभूषणों पर उत्पाद शुल्क लगाए जाने के विरोध में हजारों सर्राफा व्यापारी पिछले एक महीने से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

loading...
शेयर करें