IPL
IPL

अपनी शादी में डोली से नहीं बुलेट चलाकर पहुंची ये दुल्‍हन

आयशा उपाध्‍यायअहमदाबाद। अक्‍सर आपने देखा होगा भारतीय शादियों में दुल्‍हनों की एंट्री या तो डोली में होती है या फिर लग्‍जरी कार में। लेकिन अहमदाबाद की आयशा उपाध्‍याय ने अपनी एंट्री को कुछ अलग ही अंदाज दे दिया। आयशा यहां अपनी शादी के पंडाल में खुद ही बुलेट चलाकर पहुंची।

आयशा उपाध्‍याय की पसंद हैं बुलेट

अपने इस कारनामे के बाद आयशा को अहमदाबाद की बुलेट रानी कहा जाने लगा है। दरअसल आयशा को बुलेट चलाना बेहद पसंद है। शुक्रवार को जब आयशा की शादी हुई तो उन्‍होंने अपने ही स्‍टाइल में शादी में एंट्री के लिए डोली या कार को नहीं चुना बल्कि उन्‍होंने बुलेट को चुना। बुलेट रानी बनकर पूरी तरह से दबंग स्‍टाइल में शादी का जोड़ा और साथ में गॉगल्‍स लगाकर बुलेट पर सवार आयशा मंडप तक पहुंची। आयशा की ऐसी एंट्री देखकर लोग भी हैरान रह गए।

शादी में कुछ हटके करना चाहती थीं आयशा

दरअसल आयशा ने अपनी शादी में एंट्री के लिए बुलेट को इसलिए चुना क्‍योंकि वह अपनी शादी में कुछ हटके करना चाह रही थीं। यही वह वजह रही जिसके कारण वह बुलेट पर सवार होकर अपनी शादी के मंडप तक पहुंची।

भाई से गिफ्ट में मिली थी बुलेट

आयशा को उनके भाई अदित ने रक्षाबंधन पर रॉयल एनफील्ड बुलेट 350 गिफ्ट की थी। इसी बुलेट से आयशा ने अपनी शादी में एंट्री की। हैरानी की बात यह है कि आयशा के होने वाले दुल्हे यानी लौकिक व्यास को बाईक चलानी ही नहीं आती है। लौकिक कनाडा में जॉब करते हैं।

पिछले 13 सालों से चला रही हैं बाइक्स

आयशा उपाध्याय 26 साल की हैं और वह कंप्यूटर ऐप्लीकेशंस में प्रोफेसर हैं। आयशा 9वीं क्लास में थी जब उन्‍होंने पहली बार अपने पापा की 100cc बाइक चलाई थी। उसके बाद उन्‍होंने अपने दादा और चाचा की बुलेट चलानी शुरू कर दी। तब से उन्‍हें बाइक राइडिंग का शौक चढ़ गया। आयशा पिछले 13 साल से बाइक चला रही हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button