पहले माथे पर उगाई नाक, फिर लगाई चेहरे पर

0

इंदौर। इंदौर के डॉक्टरों ने एक विशेष प्लास्टिक सर्जरी के जरिए 12 साल के लड़के के माथे पर आर्टिफिशियल नाक उगाने के बाद उसको उसकी सही जगह पर लगाने का करिश्मा कर दिखाया है। मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले के अरुण पटेल पैदा होने के बाद जब एक महिने का था तो उसकी नाक एक इंजेक्शन के साइडइफेक्ट के कारण गल गयी थी।

 आर्टिफिशियल नाक

आर्टिफिशियल नाक का सफल ऑपरेशन

इस सफल ऑपरेशन के हेड डॉ. अश्विनी दास जो एक प्लास्टिक सर्जन है ने बताया कि अरुण के चेहरे पर सामान्य राइनोप्लास्टी (नाक की प्लास्टिक सर्जरी) संभव नहीं थी, क्योंकि उसके चेहरे पर नाक लगभग गायब हो चुकी थी। इसलिए हमनें उसकी विशेष प्लास्टिक सर्जरी करने का फैसला किया जिसे मेडिकल की भाषा में प्रीं फैब्रिकेटेड फोरहेट फ्लैप राइनोप्लास्टी कहा जाता है।

डॉ दास ने बताया कि इस सर्जरी के पहने चरण में अरुण के माथे पर जगह बनाकर सिलिकॉन की विशेष थैली (टिश्यू एक्सपैंडर) स्थापित की गयी। फिर इसमें विशेष लिक्विड डालकर इसे फुलाया गया ताकि माथे के टिश्यू फैल सकें। इस थैली ने तीन महीने में फैलते हुए माथे पर खाली स्थान तैयार किया।

loading...
शेयर करें