वाह रे मजबूरी: आर्थिक तंगी के चलते किसान ने बेटियों को बना दिया बैल और जुतवाया खेत

0

भोपाल। मध्य प्रदेश के किसानों की स्थिति किसी से छुपी नहीं है। आर्थिक तंगी का सामना करने वाले कई किसान  जिन्दगी से हार मानकर मौत को गले लगा चुके हैं और जिन्होने अपनी लड़ाई अभी भी जारी रखी है उन्हें भयंकर मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। आर्थिक तंगी से लड़ाई लड़ रहे ऐसे ही एक किसान की तस्वीर इन दिनों  सोशल मीडिया पर खासा वायरल हो रही है जो बैलों की जगह अपनी बेटियों से खेत में हल जुतवा रहा है। यह मार्मिक तस्वीर देखकर किसी का भी पसीज उठेगा।

आर्थिक तंगी

आर्थिक तंगी के चलते बैल खरीदने के काबिल नहीं है किसान

यह तस्वीर है सूबे के बसंतपुर पांगरी गांव में रहने वाले किसान सरदार काहला की जिनके पास न तो बैल खरीदने के पैसे हैं और न ही बैलों की देखबाल करने के लिए। यह किसान मजबूरी में बैलों की जगह अपनी बेटियों का प्रयोग कर रहा है। इस किसान का कहना है कि आर्थिक तंगी की वजह से उसकी दोनों बेटियों ने पढ़ाई छोड़ दी और अब खेती में अपने पिता की मदद करती हैं। उसकी एक का नाम राधिका (14) और दूसरी का नाम कुंती (11) है।

उधर, खेतों में हल जोतने के लिए बेटियों के इस्‍तेमाल की घटना पर डिस्ट्रिक्‍ट पब्लिक रिलेशन ऑफिसर (डीपीआरओ) आशीष शर्मा का बयान सामने आया है। उन्‍होंने कहा कि किसानों को निर्देश दिया गया था कि इस तरह की गतिविधियों के लिए बच्‍चों का इस्‍तेमाल न करें। उन्‍हें जिस भी तरह की मदद की जरूरत होगी, उन्‍हें दी जाएगी। प्रशासन मामले को देख रही है। सरकारी योजनाओं के तहत उन्‍हें मदद मुहैरा कराई जाएगी।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में किसानों की स्थिति बहुत ही खराब है। आर्थिक तंगी का सामना कर रहे कई किसान आत्महत्या कर चुके हैं। बीते दिनों किसानों ने सरकार से मदद की गुहार लगाते हुए एक आन्दोलन छेड़ दिया था, जिसके बाद सरकार ने उन्हें हर संभव मदद देने का वादा किया था।

loading...
शेयर करें