आर्म्स एक्ट केस: इन वजहों से सलमान खान के पक्ष में आया डेढ़ लाइन का फैसला

0

नई दिल्‍ली। जोधपुर सेशंस कोर्ट ने 18 साल से चल रहे आर्म्‍स एक्‍ट केस में सलमान खान को बरी कर दिया है। बुधवार सुबह से ही कोर्ट के बाहर लोगों का हुजूम उमड़ा था। सलमान के प्रशंसक बहुत उत्सुक थे। वहीं इस केस की सबसे मुख्‍य बात जो रही वह है सिर्फ डेढ़ लाइन में फैसला आना। सेशंस कोर्ट के जज ने सिर्फ डेढ़ लाइन में ऑर्म्‍स एक्‍ट केस का फैसला सुनाकर सबको हैरत में डाल दिया।   

आर्म्‍स एक्‍ट केस

आर्म्‍स एक्‍ट केस में सलमान के बरी होने की मुख्‍य बातें

  1. सुल्‍तान को मिला संदेह का लाभ

आर्म्‍स एक्‍ट केस में सरकारी वकील ने कोर्ट में कहा कि सलमान खान को संदेह का लाभ मिला। उन्होंने कहा कि एक हफ्ते के भीतर सरकारी वकील की ओर से ऊपरी अदालत में अपील की जाएगी। विश्नोई समाज के वकील ने कहा कि फैसले की कॉपी मिलने के बाद आगे की रणनीति बनाई जाएगी।

  1. सलमान के खिलाफ सबूतों का अभाव

दबंग सलमान खान के वकील ने कहा कि सलमान के खिलाफ पेश हुए सबूत काफी नहीं थे। सबूत कमजोर थे। सरकारी पक्ष सलमान के खिलाफ कोई भी निर्णायक साक्ष्यों पेश नहीं कर पाया।

  1. बरी होना ही था

जानेमाने वकील उज्जवल निकम ने कहाकि इस केस में बरी होने की उम्मीद पहले ही थी। मैंने कुछ दिनों पहले सलमान के पिता सलीम खान से बात की थी, उन्हें उम्मीद थी कि सलमान बरी हो जाएंगे। जब उन्हें हिरासत में लिया गया था तो उस वक्त उनका लाइसेंस एक्सपायर हो चुका था। ऐसे में कोर्ट को इस प्रकार के हथियार के इस्तेमाल का सबूत मिलना मुश्किल था। यह एक टेक्निकल ओफेंस है।

  1. गवाह का ना होना

इस मामले में सलमान के खिलाफ कोई गवाह नहीं था।

loading...
शेयर करें