एलएमए विवाद में फंसे यूपी के मुख्य सचिव आलोक रंजन, केन्द्र ने कहा जांच कराएं

लखनऊ। मुख्य सचिव आलोक रंजन के खिलाफ केन्द्र ने जांच कराने को कहा है। दरअसल, एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर ने लखनऊ मैनेजमेंट एसोसियेशन (एलएमए)के अध्यक्ष पद का मामला उठाया था। पहले सीएम और बाद में केन्द्र सरकार को पत्र लिखा था। उस पत्र का हवाला देते हए केन्द्र सरकार ने जांच कराकर आलोक रंजन के खिलाफ उचित कार्रवाई करने को कहा है।

आलोक रंजन

आलोक रंजन पर आईएएस नियमावली के उल्लंघन का मामला

नूतन ठाकुर ने आलोक रंजन द्वारा अखिल भारतीय सेवा आचरण नियमावली 1968 के नियम13(1) (सी) का उल्लंघन कर बिना सरकार की अनुमति प्राप्त किये लगातार दो साल लखनऊ मैनेजमेंट एसोसियेशन के अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने की बात कही थी। इस सम्बन्ध में अखिल भारतीय सेवा अनुशासन और अपील नियमावली में उनके खिलाफ कार्यवाही किये जाने की मांग की थी। इससे पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को शिकायत भेजी गई थी। इस शिकायत पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने मुख्य सचिव आलोक रंजन को ही जांच सौंप दी थी  जिसपर नूतन ने आपत्ति जताई थी कि यह प्राकृतिक न्याय के सिद्धांत के विपरीत है। नूतन ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार के सीएम कार्यालय को निर्देश के बाद इस मामले में सही तरीके से जाँच होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button