2 साल से फ्रीजर में बंद हैं आशुतोष महाराज

0

जालंधर। आशुतोष महाराज को ‘क्लीनिकली डेड’ घोषित किए जाने के बाद उन्हें 2 साल से एक फ्रीजर में रखा गया है। हालांकि, उनके अनुयायियों का मानना है कि आशुतोष महाराज समाधि में हैं और एक दिन जरूर जागृत होकर लोगों के सामने आएंगे।

आशुतोष महाराज

आशुतोष महाराज के भक्तों ने कहा समाधि में हैं गुरुजी

जालंधर के नूरमहल इलाके में स्थित दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के संस्थापक आशुतोष महाराज की मौत के बारे में ठीक दो साल पहले चर्चा हुई थी। इसके बाद आश्रम में श्रद्धालुओं और अनुयायिओं के आने जाने का तांता लग गया था। श्रद्धालुओं का मानना है कि महाराज समाधि में हैं और वह एक दिन आकर अपने भक्तों को जरूर दर्शन देंगे।

कोर्ट तक पहुंच चुका है मामला

इससे पहले यह मामला पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में भी पहुंच चुका है। अदालत की एकल पीठ ने पंजाब सरकार को आशुतोष महाराज का अंतिम संस्कार करने का आदेश दिया था। बाद में हालांकि, अदालत ने एकल पीठ के आदेश पर रोक लगा दी। इसके बाद पिछले साल सितंबर में अदालत ने मौखिक तौर पर कहा कि इस मामले में सभी पक्षों को मिल बैठकर अंतिम फैसला करना चाहिए, क्योंकि मेडिकल रिपोर्ट में महाराज को क्लीनिकली डेड बताया गया है। मामले में अगली सुनवायी फरवरी में होनी है।

महाराज वापस आएंगे

दिव्य ज्योति जागृति संस्थान का भी यही कहना है। संस्थान का दावा है कि महाराज समाधि में लीन हैं और वह वापस आएंगे। संस्थान के प्रवक्ता स्वामी विशालानंद ने कहा, ‘ अशुतोष महाराज समाधि में हैं। वह उठ कर सामने आएंगे। अपने अनुयायियों को दर्शन भी देंगे, लेकिन कब आएंगे इस बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है।’ विशालानंद ने दावा किया, ‘ अशुतोष महाराज ने समाधि में जाने से पहले बताया था कि वह लंबी समाधि में जा रहे हैं। इसके बाद वह जागृत अवस्था में आएंगे। हालांकि, आने के बारे में उन्होंने कुछ नहीं कहा था। ऐसे भी इस तरह की समाधि कोई नई बात नहीं है। रामकृष्ण परमहंस और आदि गुरू शंकराचार्य भी समाधि में जा कर वापस आए हैं।’

loading...
शेयर करें