इराकी सेना ने आईएस के लड़ाकों को चटाई धूल, दो तिहाई हिस्से पर फिर किया कब्ज़ा

0

मोसुल| इराकी सेना ने आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के सबसे बड़े गढ़ और अपने प्राचीनतम शहरों में से एक मोसुल के दो-तिहाई हिस्से पर फिर से कब्जा कर लिया है। संघीय पुलिस के कमांडर ने रविवार को यह घोषणा की।

इराकी सेना

इराकी सेना ने मोसुल के पूर्वी हिस्से को आईएस से करा लिया था आजाद

समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, राएद शाकेर जावदत ने एक बयान जारी कर कहा कि आईएस अपने 80 फीसदी लड़ाके खो चुका है और विजय की घोषणा अब थोड़े समय की बात रह गई है। इराक की संघीय पुलिस अब मोसुल में आईएस के कब्जे वाले आखिरी जिले अल-सर्ज के बेहद करीब पहुंच चुकी है।

जावदत के अनुसार, आईएस आतंकवादियों ने आम नागरिकों के पीछे छिपने की नई रणनीति अपनाई है और आम नागरिकों को खतरे से बाहर निकालते हुए अतंकवादियों को अलग-थलग करने में इराकी बल की रणनीति कारगर साबित हो रही है।

इराक की सरकारी सेना ने मोसुल के पूर्वी हिस्से को अक्टूबर, 2016 से जनवरी, 2017 के बीच चले संघर्ष में आजाद करा लिया। इसके बाद फरवरी, 2017 के मध्य में मोसुल के शेष पश्चिमी हिस्से को आजाद कराने का अभियान शुरू किया गया। टिगरिस नदी मोसुल को पूर्वी और पश्चिमी दो हिस्सों में विभाजित करती है। आईएस ने जून, 2014 में मोसुल पर कब्जा कर लिया था और इलाके को अपना नया खलीफा घोषित कर दिया था।

loading...
शेयर करें