गर्मी में पशु-पक्षियों के लिए भगवान बने स्टूडेंट्स

0

इलाहाबाद। बढ़ती गर्मी से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। मकर रेखा के नजदीक होने की वजह से इलाहाबाद शहर में गर्मी हद पार कर चुकी है। पारा 46 डिग्री तक पहंच चुका है। ऐसे में इंसान गर्मी से बचाव कर ले रहें हैं, लेकिन पशु-पंक्षियों का बुरा हाल हो रहा है। इन्हें बचाने और गर्मी से निजात दिलाने के लिए कुछ इंसान सामने आये हैं। पशु-पंक्षियों की दशा देखकर उन्हें बचाने के लिए इलाहाबाद यूनिवर्सिटी यूथ एंड स्टूडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन ने पहल की है।

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी

लॉ विभाग से हुई अभियान की शुरुआत

बेतहासा गर्मी, उमस में पानी की तलाश में दर- दर भटक रहे बेजुबान पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने पहल की है। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी यूथ एंड स्टूडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से अभियान चलाकर यूनिवर्सिटी में विभिन्न स्थानों पर पक्षियों के लिए पानी की व्यवस्था की जा रही है। कानून विभाग के कुछ स्टूडेंट इसके लिए आगे आए, छात्रों का साथ देते हुए अभियान का आगाज संकाय के अध्यक्ष प्रो आरके चौबे ने किया।

पक्षियों के दाना-पानी की व्यवस्था के लिए यूनिवर्सिटी के साथ ही एसोसिएशन के नेतृत्व में स्टूडेंट्स ने हॉस्टल में भी व्यवस्था की। इलाहाबाद के कुछ प्रमुख हास्टलों में पक्षियों के लिए पानी की व्यवस्थाकी गई। स्टूडेंट्स ने जीएन झा, डॉ ताराचन्द्र, सर राधाकृष्ण, हिन्दू हॉस्टल में अभियान की शुरुआत करते हुए पक्षियों के खाने और पीने के लिए पानी की व्यवस्था कई स्थानों पर की।

अध्यक्ष ने छात्रों में भरा जोश

कानून विभाग के अध्यक्ष प्रो आरके चौबे ने अभियान में छात्रों को शामिल करते हुए कहा की जल की कमी लगातार बढ़ रही है। सूचना जैसी आपदा से हमें जूझना पड़ रहा है। बढ़ते जल प्रदूषण एवं सूखा के कारण पशु- पक्षी व्याकुल हो कर मर रहे हैं। ऐसे में युवाओं का यह प्रयास सराहनीय है। हम सभी को यह ठान लेना होगा कि अब पानी के अभाव में पक्षियों को नहीं मरने दिया जाएगा। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स एंड यूथ वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय कुमार द्विवेदी ने कहा कि इस प्रयास में युवाओं में जल संरक्षण की भावना उत्पन्न करना ही प्रमुख उद्देश्य है।

loading...
शेयर करें