सेना का दावा, आतंकी संगठन आईएस को 10 जून तक कर देंगे खत्म

0

मोसुल। इराकी सुरक्षा बलों ने इस्लामिक स्टेट (आईएस) के चंगुल से 10 जून तक मोसुल को मुक्त करा लेने की उम्मीद जताई है। जून 2014 में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने मोसुल पर कब्जा कर लिया था। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, आईएस के कब्जे वाले इलाकों को मुक्त कराने के लिए दो सप्ताह की अवधि निर्धारित की गई है। हवाईअड्डे और विश्वविद्यालय सहित मोसुल के अधिकांश भागों पर सुरक्षा बल पहले ही नियंत्रण कर चुके हैं।

इस्लामिक स्टेट

रिपोर्ट में कहा गया कि शहर के करीब 165,000 नागरिकों के बीच अभी भी अज्ञात संख्या में आईएस आतंकवादी छिपे हैं। इराक के विशेष अभियान बल के कमांडर मेजर कुसे अल-किनानी ने समाचारपत्र टेलीग्राफ को बताया, “आईएस ने मोसुल पर 10 जून 2014 को कब्जा किया था, इसलिए इस साल 10 जून तक इसे जरूर मुक्त करा लिया जाना चाहिए।”

इराक के प्रधानंमत्री हैदर-अल-अबादी ने सोमवार को सोमवार को युद्धग्रस्त मोसुल का दौरा करने के दौरान कहा कि पश्चिमी मोसुल के आसपास के जिन कुछ इलाकों में आईएस का अभी भी कब्जा है, इराकी सुरक्षाबल वहां से उन्हें खदेड़ने के अंतिम चरण में हैं। अबादी ने कहा, “दुश्मन पतन की स्थिति में है और मोसुल में अपने किसी मकसद में कामयाब नहीं हो सकता, जिसे एक बार उसने अपनी राजधानी माना था।”

प्रधानमंत्री के अनुसार, सुरक्षाबलों ने मोसुल के 95 फीसदी हिस्से को आईएस के चंगुल से मुक्त करा लिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मोसुल के पूर्वी हिस्से में सामान्य जनजीवन लौटने लगा है और पश्चिम में अधिकांश इलाके मुक्त करा लिए गए हैं और जल्द ही इस शहर के पूरी तरह से आजाद होने की घोषणा की जाएगी।

अबादी इराकी सेना के कमांडर-इन-चीफ भी हैं। सेना के कमांडरों ने भी रमजान के पहले मोसुल को आजाद करा लेने की बात कही है। विशेष अभियान के कमांडर मान अल-सादी ने बताया कि सुरक्षाबलों ने मोसुल के नजदीकी इलाके अल-शाहा को 70 फीसदी मुक्त करा लिया है और लगभग 70 आतंकवादी मारे गए हैं।

loading...
शेयर करें