इस देश में डेढ़ करोड़ तक हो सकते है कोरोना के मरीजो की संख्या….

ईरान में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या करीब डेढ़ करोड़ हो सकती है. ISNA न्यूज एजेंसी ने देश के कोविड-19 टास्क फोर्स के सदस्य एहसान मुस्तफावी के हवाले से ये जानकारी दी है. ईरान उन देशों में शामिल है जहां कोरोना का संक्रमण चीन के बाद सबसे पहले पहुंचा था.

ईरान में कोरोना वायरस का संक्रमण फरवरी में ही पहुंच गया था और जल्दी ही बड़ी संख्या में लोग संक्रमित होने लगे थे. हालांकि, अब तक करीब एक लाख 75 हजार 900 मामलों की पुष्टि हुई है.

ईरान में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा फिलहाल 8425 बताया जा रहा है. हालांकि, बीबीसी ने एक रिपोर्ट में दावा किया था कि ईरान में कोरोना से जान गंवाने वाले लोगों की असल संख्या अधिक हो सकती है.

दुनिया के कई अन्य देशों में भी आधिकारिक आंकड़ों से कहीं अधिक संख्या में लोग कोरोना संक्रमित हो सकते हैं. वैज्ञानिकों का कहना है कि खासकर बिना लक्षण वाले लोग भी पॉजिटिव हुए होंगे जो जांच के लिए लैब में नहीं पहुंचे.

ईरान के हेल्थ एक्सपर्ट और कोविड-19 टास्क फोर्स के सदस्य एहसान मुस्तफावी का कहना है कि वायरस से संक्रमित हुए लोगों की संख्या देश में करीब डेढ़ करोड़ हो सकती है. उन्होंने कहा कि इसका ये मतलब हुआ कि दुनिया अब तक जितना समझती है, कोरोना वायरस उससे कहीं कम घातक है.

ईरान के हेल्थ एक्सपर्ट ने देश में कोरोना संक्रमितों की बड़ी संख्या की बात तब कही है जब कुछ ही दिन पहले ईरान ने कहा था कि कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर शुरू हो गई है. ईरान को दुनिया का पहला देश समझा जा रहा है जहां कोरोना की दूसरी लहर सामने आई है.

एहसान मुस्तफावी ने कहा कि लोगों के सीरोलॉजी टेस्ट किए गए थे. सर्वे में ये पता लगाया गया कि कितने लोगों में एंटीबॉडी डेवलप हुआ है. सर्वे में 18.75 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी मिले.

Related Articles