इस महिला ने महामंडलेश्वर कैलाशानंद पर लगाया छेड़छाड़ का आरोप, केस दर्ज

0

देहरादून। उत्तराखंड के परमाध्यक्ष कैलाशानंद ब्रह्मचारी के खिलाफ एक महिला ने छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। साथ ही उसने दिल्ली में छेड़छाड़ के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ है। जिसके बाद हरिद्वार के संत समाज में हलचल मची हुई है। ये बाबा अग्रि अखाड़े के महामंडलेश्वर एवं दक्षिण काली मंदिर के परमाध्यक्ष कैलाशानंद ब्रह्मचारी हैं।

महामंडलेश्वर

महामंडलेश्वर स्वामी रसानंद की पत्नी होने का दावा

कैलाशानंद पर यह आरोप ब्रह्मलीन महामंडलेश्वर स्वामी रसानंद की पत्नी होने का दावा करने वाली महिला ने ही लगाया है। उज्जैन के महाकुंभ में बेशकीमती संपत्ति की मलकियत वाले स्वामी रसानंद की दिल का दौरा पडने से मौत हो गई थी।

स्वामी रसानंद अग्रि अखाड़े से ताल्लुक रखते थे। लिहाजा रसानंद की मृत्यु के बाद अग्रि अखाड़े के शीर्ष नेतृत्व ने अपने महामंडलेश्वर कैलाशानंद ब्रह्मचारी को ही उनकी गददी सौंपी थी।

दिल्ली के नार्थ रोहिणी की रहने वाली है ये महिला

कैलाशानंद ने जब गददी संभाली थी तब वहां पहुंची दिल्ली के नार्थ रोहिणी की रहने वाली एक महिला ने रसानंद की पत्नी होने का दावा करते हुए उनकी संपत्ति पर अधिकार जताया था। महिला ने अगले ही दिन स्वामी रसानंद से उत्पन्न एक पुत्र को जन्म देने का दावा किया था। कुछ दिन बाद मामला शांत हो गया था।

तेजिंद्र कौर ने दिल्ली के नार्थ रोहिणी थाने में महामंडलेश्वर कैलाशानंद एवं रिठाला आश्रम के संचालक पुनीतानंद पर गंभीर आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है।

आरोप है कि तीस अगस्त की रात को पुनीतानंद जबरन उसे अपने साथ कार में बैठाकर रिठाला आश्रम ले गया। इस दौरान उसके साथ छेड़छाड़ की गई। फिर वहां मिले कैलाशानंद ने भी कार में ही उसके साथ अश्लील हरकत की और गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी।

महिला की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने छेड़छाड़ समेत प्रभावी धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। दिल्ली में मुकदमा दर्ज होने की गूंज अब कुंभनगरी में भी हुई है। संत समाज में मुकदमे को लेकर तरह-तरह की चर्चा बनी हुई है।

कैलाशानंद के शिष्य दे रहे हैं सफाई

स्वामी कैलाशानंद के शिष्य इस मामले को पूरी तरह से झूठा और बदनाम करने की नीयत से दर्ज कराया जाना बता रहे हैं।

 

loading...
शेयर करें