इस महीने में नए घर में करें प्रवेश, तो आप हो जाएंगे मालामाल  

हिन्दू धर्म में सभी कार्यों को बड़ी विधि-विधान से किया जाता है। गृह प्रवेश से लेकर घर की पूजा तक सब कुछ हम वास्तु दोष के अनुसार ही करते हैं। वास्तु दोष सभी व्यक्ति के जीवन पर प्रभाव डालता है। अक्सर आपने देखा होगा कि घर में लड़ाई-झगड़े होते रहते हैं। घर में रोजाना कोई न कोई बड़ा नुक्सान होना। नकारात्मता का प्रवेश करना और भी ऐसे कई कारण है जिससे ये पता चलता है कि घर में वास्तु दोष है। वास्तु दोष को दूर करने के लिए घर में जो पूजा कराई जाती है उसे वास्तु शांति कहते हैं।

हिन्दू धर्म

जो लोग वैशाख के महीने में गृह प्रवेश करते हैं उनके घर में कभी धन की कमी नहीं होती है। जो इंसान पशु और पुत्र चाहता है उसे अपने नए घर में ज्येष्ठ महीने में प्रवेश करना चाहिए। इसके अलावा आप किसी और महीने में गृह प्रवेश करते हैं, तो वह साधारण फल देते हैं। घर में सुख शांति बनाएं रखते हैं।

आपको बता दें अपना घर हो या किराए किसी भी नए घर में प्रवेश करने से पहले गृह प्रवेश जरुर करना चाहिए और पूजा-पाठ भी कराएं। आपके ऐसा करने से घर खुशी का माहौल बना रहता है। किसी कारण वश अगर आप ऐसा नहीं करते तो आपको कई सारी परेशानियों का सामना आकर पड़ सकता है।

मान्यताओं के अनुसार माघ, फाल्गुन, वैशाख, ज्येष्ठ माह को गृह प्रवेश के लिए सबसे सही समय बताया गया है। जो फाल्गुन मास में वास्तु पूजन करता है, उसे पुत्र, प्रौत्र और धन प्राप्ति होती है।

इस दौरान न करें गृहप्रवेश

आषाढ़, श्रावण, भाद्रपद, आश्विन, पौष इस समय में गृह प्रवेश नही करना चाहिए। धनु मीन के सूर्य यानी के मलमास में भी नए मकान में प्रवेश नहीं करना चाहिए। मंगलवार,शनिवार,रविवार को किसी भी परिस्थिति में प्रवेश वर्जित होता है।इस बाद किसी भी दिन आप गृह प्रवेश करवा सकते हैं। विधिपूर्वक मंत्रोच्चारण करके ही गृह प्रवेश करना चाहिए।

ऐसे करें गृह प्रवेश  

नये घर में प्रवेश करने से पहले वास्तु शांति कराएं। इसके लिए शुभ नक्षत्र और तिथि इस प्रकार हैं।

शुभ दिन- सोमवार, बुधवार, गुरुवार, व शुक्रवार।

शुभ समय- शुक्लपक्ष की द्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी, द्वादशी एवं त्रयोदशी।

शुभ नक्षत्र- अश्विनी, पुनर्वसु, पुष्य, हस्त, उत्तरफाल्गुनी, उत्तराषाढ़ा, उत्तराभाद्रपद, रोहिणी, रेवती, श्रवण, धनिष्ठा, शतभिषा, स्वाति, अनुराधा एवं मघा।

गृहशांति पूजन न करवाने से हो सकता है ये नुक्सान

जिस घर में प्रवेश करने से पहले पूजा न कराई जाए उस घर में सदैव कलह-क्लेश रहते है और घर के सदस्यों में मन-मुटाव बढ़ता है।

अगर आप किसी घर में वास्तु शांति नहीं कराते तो सेहत पर बुरा असर पड़ता है। जिसके कारण घर में हमेशा कोई न कोई बीमारी से ग्रसित रहता है।

जिस घर में ये दोष पैदा होते हैं, उस घर में कभी बरकत नहीं रहती, इसके विपरीत अधिक खर्च रहने लगता है।

बिना पूजन और ब्राह्मण को खिलाए बिना घर में प्रवेश नहीं करना चाहिए।

Related Articles