इस सिंगर को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड से किया गया सम्मानित

0

मुंबई, 1 मई | बॉलीवुड के फेमस सिंगर बप्पी लाहिड़ी जितना अपने गानों के लिए फेमस हैं उससे कही ज्यादा वह अपने सोने के गहनों के लिए भी जाने जाते हैं. बप्पी लाहिड़ी जितना देखने में सबसे अलग हैं उतना ही वह अपने गानों में भी और सिंगरों से अलग है. 2011 में ‘डर्टी पिक्चर’ के लिए गाया गया उनका गाना ऊ ला ला ऊ लाला.. बहुत्त ही सुपरहिट रहा था.

बप्पी लाहिड़ी को उनके फेमस गाने ‘जिम्मी जिम्मी आजा अजा’ के साथ वैश्विक संगीत में अपने योगदान के लिए लंदन के वल्र्ड बुक ऑफ रिकॉर्डस द्वारा सम्मानित किया गया है. बप्पी ने मीडिया को बताया, “यह लगभग पांच दशकों और 600 से अधिक फिल्मों व अनगिनत प्रशंसा वाली एक लंबी यात्रा रही है. लेकिन जिम्मी जिम्मी के बारे में कुछ खास है. यह दुनिया के हर हिस्से में फॉलो किया गया है. इस तरह के प्यार से मेरी आंखों में आंसू आ जाते हैं. यह मेरे प्रशंसकों का प्यार है, जो मुझे आगे बढ़ाता रहता है.”

मूल रूप से 1982 की फिल्म ‘डिस्को डांसर’ में मिथुन चक्रवर्ती पर चित्रित ‘जिम्मी जिम्मी आजा आजा’ का अनुवाद रूसी और चीनी में किया गया है और यह एडम सैंडलर के ‘यू डू नॉट मेस विद जोहन’ मूल गाने का हिस्सा रहा है.

बप्पी लाहिडी़ ने कई फिल्मों में गेस्ट अपीयरेंस भी दी है. साल 1974 में वह किशोर कुमार की फिल्म ‘बढ़ती का नाम दाढ़ी’ में बापू जिप्सियन का किरदार निभाया था. इसके बाद वह फिल्म कलाकार (1983) और बांग्ला फिल्म ‘नयन मोनी’ (1990) में भी नजर आ चुके हैं.

 

loading...
शेयर करें