चुनाव जीतने के लिए ‘काले जादू’ का इस्तेमाल कर रहे हैं यहां के नेता

0

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए 15 फरवरी को मतदान होना है। वहीं सभी पार्टियां चुनाव जितने के लिए हर तरह की कोशिश कर रही हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि कुछ नेता तो ऐसे भी हैं। जो इस कोशिश में लगे हुए हैं। जो बिना लोगों के बीच गए चुनाव जितने की कोशिश कर रही हैं।  

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव जीतने के लिए कोशिश

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव जीतने के लिए प्रत्याशी साम, दाम, दंड, भेद सहित सारे दांव अपनाते हैं। एक गुप्त दांव ऐसा भी खेला जा रहा है, जिससे प्रत्याशियों को मतदाताओं के बीच जाने की भी जरूरत नहीं है। प्रत्याशी अपनी जीत के साथ ही अपने विरोधियों की हार के लिए भी विशेष अनुष्ठान करा रहे हैं। इसके लिए बाहर से विशेषज्ञ पंडित बुलाए गए हैं। धर्मनगरी के कई मंदिरों में इन दिनों विनाशकारी यज्ञ चल रहे हैं।

जीत के लिए कर रहे हैं हवन

इन सबके अलावा प्रतिद्वंद्वियों को चित करने के लिए ज्योतिष और कर्मकांड का सहारा भी लिया जा रहा है। प्रत्याशी अपनी जीत के लिए यज्ञ हवन करा रहे हैं। ज्योतिषाचार्यों से पूछा जा रहा है कि प्रतिद्वंद्वी की लोकप्रियता में कैसे सेंध लगाई जाए।

बाहर से आए हैं विशेष पंडित

विशेषज्ञ पंडितों के बताए अनुसार जीत के मार्ग में आने वाली बाधाओं को हटाने के लिए विनाशकारी यज्ञ कराए जा रहे हैं। कई प्रत्याशियों ने प्रतिद्वंद्वियों को शिकस्त देने के लिए बाहर से भी विशेषज्ञ पंडित बुलाए गए हैं। देर रात तक अलग-अलग जगहों पर अनुष्ठान कराए जा रहे हैं। इन दिनों नीलधारा क्षेत्र में गंगा किनारे देर रात तक चल रहे ऐसे यज्ञ चर्चा का विषय बने हुए हैं।

बता दें कि यहां 15 फरवरी को मतदान होगा। उसके बाद 11 मार्च को चुनाव के नतीजे आ जाएंगे।

loading...
शेयर करें