उत्तर प्रदेश: घरों में होती है सबसे ज्यादा डिलीवरी 

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा प्रसव घरों में होते हैं। सैंपल रजिस्ट्रेशन सिस्टम (एसआरएस) की ताजा रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा प्रसव घरों में होते हैं। हालांकि, उत्तर प्रदेश में 2014-16 में मातृ मृत्युदर (एमएमआर) में 30 फीसदी की कमी आई है। देश में मातृ मृत्युदर का राष्ट्रीय औसत 22 फीसदी है।

उत्तर प्रदेशडब्ल्यूएचओ के अनुसार, एमएमआर में 1990 के प्रति 100,000 जीवित प्रसव पर 556 मामले के मुकाबले 2016 में यह प्रति 100,000 जीवित प्रसव पर यह 130 मामले रहे। ऐसे में एमएमआर में 77 फीसदी की गिरावट आई है।

प्रसव के दौरान होने वाली मृत्युदर में जबरदस्त कमी पर यूनिसेफ की भारत में राष्ट्रीय प्रतिनिधि यास्मीन अली हक ने इसकी सराहना करते हुए कहा कि भारत ने इसमें शानदार सफलता पाई है। उन्होंने कहा कि अब 2013 की तुलना में हर प्रसव संबंधित जटिलताओं के कारण लगभग 1000 कम मांओं की मृत्यु होती है।

Related Articles