एक नजर उत्‍तर प्रदेश के पिछले दो विधानसभा चुनाव के परिणामों पर

0

नई दिल्‍ली, (अनुराग मिश्र)। चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करके चुनावी बिगुल बजा दिया है। पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनाव एक साथ कराए जाएंगे। सभी राजनीतिक पार्टियां चुनावी मूड में आ चुकी हैं। बात अगर सिर्फ उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव की करें तो यहां पर सत्‍तारूढ़ समाजवादी पार्टी का सीधा मुकाबला बीजेपी से माना जा रहा है।

उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव

उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के आकड़ों पर एक नजर

अगर पिछले विधानसभा चुनाव 2012 पर रोशनी डाली जाए तो समाजवादी पार्टी ने सबको चौंकाते हुए 403 विधानसभा सीटों वाले इस राज्य में अकेले ही 224 सीटें पाईं थीं। मायावती की बीएसपी सिर्फ 80 सीटों पर सिमट गई थी। वहीं दूसरी ओर उमा भारती के नेतृत्व में चुनाव मैदान में उतरी भारतीय जनता पार्टी को सिर्फ 47 सीटों से संतोष करना पड़ा था। कांग्रेस भी यहां कोई चमत्कार नहीं कर सकी और 28 सीटें जीतकर चौथे नंबर की पार्टी बनी रही। चुनावों में अन्य दलों के हिस्से में 24 सीटें आईं।

2007 में हाथी ने सबको पीटा

इससे पहले 2007 के विधानसभा चुनाव में नतीजे 2012 से बिल्कुल उलटे रहे थे। 2007 में बहुजन समाज पार्टी 206 सीटें जीतकर अकेले अपने दम पर सरकार बनाने में सफल रही। मुलायम सिंह के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी को सिर्फ 97 सीटें मिलीं। कांग्रेस को 22 तो भारतीय जनता पार्टी को 51 सीटों से ही संतोष करना पड़ा। इन चुनावों में अन्य दलों को 27 सीटें मिलीं।

loading...
शेयर करें