अखिलेश का समर्थन करने पर MLC उदयवीर को शिवपाल ने 6 साल के लिए पार्टी से निकाला

0

लखनऊ। सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह को पत्र लिखकर अखिलेश यादव का समर्थन करना एमएलसी उदयवीर सिंह को भारी पड़ा। उन्हें प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने 6 सालों के लिए पार्टी से सस्पेंड कर दिया है।

उदयवीर सिंह

उदयवीर सिंह ने कहा-मैंने जो भी लिखा उस पर कायम हूं, पार्टी का फैसला मंजूर

गौरतलब है कि अखिलेश यादव के करीबी और एमएलसी उदयवीर सिंह ने बुधवार को ही सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को चिट्ठी लिखकर इस बात की मांग की थी कि वे खुद पार्टी के संरक्षक बनें और अपनी कुर्सी (वर्तमान में राष्ट्रीय अध्यक्ष) अपने बेटे सीएम अखिलेश को सौंप दें। उदयवीर सिंह के इस कदम के बाद माना जा रहा था कि पत्र को लिखने के लिए एमएलसी उदयवीर सिंह गाज गिरनी तय है।

वहीं एक बार फिर से मतभेद खुलकर सामने आ गया है। उदयवीर सिंह के पत्र पर एमएलसी आशु मलिक ने निशान साधते हुए उनपर चापलूसी करने का आरोप लगाया था। सपा से निकाले जाने के बाद सपा एसएलसी उदयवीर सिंह ने कहा कि अगर एक फादर या पिता संरक्षक है तो इसमें क्या गलत है। मुलायम सिंह जी के संरक्षण में ही पार्टी चल रही है। पिता संरक्षक ही होता है।

अगर किसी को सेनापति बना दिया गया है तो उसको सभी हक़ मिलने चाहिए। बड़े और छोटे नेता की बात नहीं है। समाजवादी पार्टी में अपनी बात रखने का सबको हक़ है। वहीं उन्होंने कहा कि नेताजी जो फैसला करेंगे वो मैं मानूंगा। मैंने जो भी लिखा उस पर कायम हूं। अखिलेश जी के साथ जो हुआ वह गलत है। मैंने जो भी लिखा वह सही है। ऐसा पहले भी हुआ है कि पार्टी में लोगों को निकाला गया है। लेकिन बाद में गलती का एहसास हुआ तो वापस भी लिया गया। लेटर लिखने का कोई अफ़सोस नहीं है। पार्टी का समर्पित कार्यकर्ता हूं।

 

loading...
शेयर करें