उपहार कांड में गोपाल अंसल को सुप्रीम कोर्ट से झटका, काटनी होगी जेल की सजा

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने उपहार कांड के आरोपी #Gopal Ansal को झटका दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया है कि चार हफ्ते के अंदर गोपाल अंसल कोर्ट में सरेंडर करें। कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा है कि किसी भी कीमत पर सजा घटाई नहीं जाएगी। उपहार कांड में #Gopal Ansal की भूमिका को लेकर सुप्रीम कोर्ट हमेशा से सख्‍त रहा है।

उपहार कांड में गोपाल अंसल

उपहार कांड में गोपाल अंसल को मिला चार हफ्तों का समय

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उपहार कांड में #Gopal Ansal को चार हफ्ते का समय दिया गया है। कोर्ट ने गोपाल अंसल की सजा घटाने से इनकार कर दिया और कहा है कि अब छह महीने से ज्यादा की बची सजा पूरी करनी होगी। 13 जून, 1997 को दिल्ली के उपहार सिनेमा हॉल में आग लग गई थी जिसमें 23 बच्चों समेत 59 लोगों की जान चली गई थी।

एक साल की सुनाई गई थी सजा

इससे पहले कोर्ट ने मामले में गोपाल अंसल को एक साल जेल की सजा सुनाई गई थी। हालांकि इस मामले में उनकी उम्र का हवाला देते हुए पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया।

सुप्रीम कोर्ट में चली सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट की 3 सदस्यीय बेंच के दो जज अंसल की सजा घटाने के खिलाफ थे। कोर्ट का कहना था कि चूंकि #Gopal Ansal को उम्र से जुड़ी कोई समस्या नहीं, इसलिए उनसे सजा से छूट नहीं दी जा सकती। हालांकि गोपाल इस मामले में करीब पांच माह की सजा पूरी कर चुके हैं, ऐसे में उन्हें बाकी बची छह माह से ज्यादा की सजा जेल में ही काटनी होगी।

क्या था उपहार अग्निकांड

13 जून, 1997 की शाम दिल्ली के ग्रीन पार्क स्थित उपहार सिनेमा हॉल में हिन्दी फिल्म बॉर्डर दिखाई जा रही थी, तभी वहां आग लग गई और इसमें झुलस कर 59 लोगों की जान चली गई, जबकि 100 के करीब लोग घायल हुए थे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button