#INDvsNZ: 200 का आंकड़ा भी न छू सकी न्यूजीलैंड, भारत को दिया 191 रनों का लक्ष्य

0

धर्मशाला: धर्मशाला स्थित हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (एचपीसीए) स्टेडियम में भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जा रहे पहले वनडे मैच में न्यूजीलैंड ने भारत के सामने जीत के लिए 191 रनों का लक्ष्य रखा है। टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए भारतीय गेंदबाजों ने किवी टीम को 43.5 ओवर में 190 रनों पर आल आउट कर दिया। भारत की ओर से अंतर्राष्ट्रीय वनडे में डेब्यू करने वाले हार्दिक पांड्या ने बेहतरीन गेंदबाजी की और तीन विकेट हासिल किया। उनके अलावा अमित मिश्र को भी तीन विकेट मिले। न्यूजीलैंड की ओर से सबसे ज्यादा टॉम लाथम 71 रन बनाकर अविजित लौटे।

उमेश यादव

उमेश यादव और हार्दिक पांड्या ने न्यूजीलैंड को दिए शुरूआती झटके

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का पहले गेंदबाजी करने का फैसला उस वक्त सही साबित हुआ जब अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैच में डेब्यू करने वाले हार्दिक पांड्या ने दूसरे ओवर की आखिरी गेंद पर ही किवी टीम के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल को 14 रनों के कुल योग पर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। हालांकि इसके पहले उन्हें इसी ओवर में तीन चौके लग चुके थे। गुप्टिल 12 रन बनाकर आउट हुए।

इसके बाद उमेश यादव ने भी धारदार गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए पांचवे ओवर की आखिरी गेंद पर किवी कप्तान केन विलियमसन को भी चलता कर दिया। विलियमसन मात्र तीन रन ही बना सके। उस वक्त न्यूजीलैंड का स्कोर मात्र 29 रन था।

अभी किवी टीम इस झटके से उभर भी नहीं पाई थी कि सातवें ओवर में उमेश यादव ने एक बार फिर न्यूजीलैंड को करारा झटका दिया। इस बार टीम के भरोसेमंद खिलाड़ियों में शुमार रोस ट्रेलर की बारी थी। वह अपना खाता भी नहीं खोल सके और यादव की गेंद पर विकेटकीपर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को कैच दे बैठे।

इसके बाद हार्दिक पांड्या ने 11वें ओवर की चौथी गेंद पर कोरी एंडरसन का विकेट झटककर टीम को एक और करारा झटका दिया। एंडरसन अपना खाता भी नहीं खोल सके और डक पर उमेश यादव के हाथों कैच आउट हो गयें ।

इसके बाद 13वें ओवर में हार्दिक पांड्या ने किवी टीम का पांचवा विकेट और अपना तीसरा हासिल किया। इस बार उन्होंने ल्युक रोंची को पवेलियन की ओर रवाना किया। वह भी उमेश यादव के हाथों कैच आउट हुए।रोंची भी अपना खाता खोलने में असफल रहे।

अभी टीम पूरी तरह से इन झाक्तों से उभर भी नहीं पाई थी कि गेंदबाजी पर लगाए गए केदार जादव ने अपने दूसरे और टीम के 19वें ओवर की तीसरी और चौथी गेंद पर लगातार दो विकेट हासिल कर न्यूजीलैंड को बैकफुट पर ढकेल दिया। पहले उन्होंने नीशम को अपनी ही गेंद पर खुद कैच कर पवेलियन भेजा, फिर अगली ही गेंद पर मिशेल सेंटनर को विकेटों के पीछे खड़े कप्तान धोनी के हाथों आउट किया। नीशम ने छह रन बनाए। इस समय टीम का स्कोर 65 रन था।

न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज टॉम लाथम शुरुआत से ही क्रीज पर रुके हुए थे लेकिन दूसरी छोर से उन्हें कोई मदद नहीं मिल रही थी। हालांकि जल्द सात विकेट खोने के बाद उन्हें डग ब्रेसवेल का अच्छा साथ मिला। इन दोनों खिलाड़ियों ने संभलकर खेलते हुए टीम के स्कोर को 100 रनों के पार पहुंचाया।

हालांकि यह पार्टनरशिप भी बहुत ज्यादा आगे तक नहीं जा सकी और 106 रनों के कुल योग पर ब्रेसवेल भी चलते बने। वह 32वें ओवर में अमित मिश्र की गेंद पर अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट हुए। ब्रेसवेल और लाथम के बीच 41 रनों की साझेदारी हुई। इसी बीच लाथम ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया। ब्रेसवेल 15 रन बनाकर आउट हुए।

ब्रेसवेल के आउट होने के बाद मैदान पर उतरे टिम साउदी ने भी लाथम का अच्छा साथ निभाया। इन दोनों ने मिलकर टीम को सम्मानजनक स्थिति में लाते हुए स्कोर को 150 के पार पहुंचाया। इस बीच टिम साउदी ने कुछ अच्छे हाथ दिखाए और तेजी से रन बटोरा। उन्होंने 41वें ओवर में 40 गेंदों में पांच चौकों और तीन छक्कों की मदद से अपना अर्धशतक पूरा किया।

हालांकि इसके बाद वह अपनी पारी को बहुत आगे तक नहीं ले जा सके और 42वां ओवर फेंक रहे अमित मिश्र की गेंद पर मनीष पाण्डेय को कैच दे बैठे। इस समय टीम का स्कोर 176 रन था जबकि अब उनका केवल एक ही विकेट शेष बचा था। टिम साउदी छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 45 गेंदों में 55 रन बनाकर आउट हुए। साउदी और लाथम के बीच नौवें विकेट के लिए नायाब 71 रनों की साझेदारी हुई।

इसके बाद अपने 44वें ओवर में अमित मिश्रा ने इश सोढ़ी को पगबाधा आउट कर न्यूजीलैंड की पारी का अंत किया। न्यूजीलैंड की पारी 200 रनों का आंकड़ा भी पार न कर सकी और 190 पर ही आल आउट हो गई। लाथम 79 रन बनाकर अविजित लौटे।

भारत की ओर से हार्दिक पांड्या और अमित मिश्र ने तीन-तीन जबकि उमेश यादव व केदार जादव ने दो-दो विकेट हासिल किया।

 

loading...
शेयर करें