#UriAttack : आतंकियों ने मिटा दिए सबूत, NIA के लिए मुश्किल

0

नई दिल्ली: कश्मीर में उरी हमले को अंजाम देने वाले आतंकियों के गिरहबान तक पहुंचने में जांच एजेंसी NIA को खासा मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि भारतीय सैनिकों पर हमला करने वाले ये आतंकी बेहतर तरीके से प्रशिक्षित थे। उन्होंने खुद को NIA की पकड़ से दूर रखने के लिए उन सभी सबूतों को मिटा दिया था जिसकी मदद से NIA उनतक पहुंच सकती थी। इन सभी बातों की जानकारी न्यूज चैनल ‘aajtak’ से हुई है।

उरी हमले

उरी हमले की जांच में NIA को आ रही ये दिक्कतें

न्यूज चैनल से मिली जानकारी के अनुसार, NIA को उरी हमले के आतंकियों तक पहुंचने में कई तरह की मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।  बताया जा रहा है कि हमला करने वाले आतंकी बेहतर प्रशिक्षित थे। उन्होंने डिजिटल कोड्स का सहारा लिया था, जिसे ट्रेस नहीं किया जा सकता। साथ ही उन्होंने जीपीएस में अपनी आखिरी लोकेशन भी डिलीट कर दी थी।

इसके अलावा यह भी बताया जा रहा है कि हमले को अंजाम देने वाले आतंकियों ने ICOM सेटेलाइट फोन का इस्तेमाल किया था। ये फोन जापान में बनते हैं जिनको इस्तेमाल करने के लिए काफी ट्रेनिंग की जरूरत पड़ती है। सूत्रों के मुताबिक इस तरह के सेटेलाइट फोन का इस्तेमाल पाकिस्तानी आर्मी की मदद के बिना नहीं किया जा सकता है।

सूत्रों का कहना है कि उरी हमले को अंजाम देने वाले आतंकी पठानकोट हमले के आतंकियों से ज्यादा प्रशिक्षित थे।

loading...
शेयर करें