उरी हमले के आरोपी को बीजेपी सरकार ने ही किया था रिहा

0

नई दिल्ली। कश्मीर में सेना मुख्यालय पर हुए हमले ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। वहीं खुफिया रिपोट्स में उरी हमले के पीछे आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद का हाथ बताया जा रहा है। इस हमले का मास्टर माइंड कोई और नहीं जैश का सरगना मसूद अजहर है। ये वही मसूद अजहर है जिसने पठानकोट एयरबेस पर भी हमला करवाया था। उसे बीजेपी सरकार ने रिहा कर दिया।

उरी हमले

उरी हमले के आरोपी को बीजेपी ने किया रिहा

उरी हमले के पीछे आतंकी मसूद अजहर को साल 1999 में भारत की जेल से रिहा कर दिया गया था। उस दौरान देश में बीजेपी की सरकार थी। उसे रिहा कराने के लिए कंधार विमान अपहरण कांड के बाद भारत को रिहा करना पड़ा था।  तब भारत की मजबूरी थी क्योंकि इंडियन एयरलाइंस की फ्लाइट 814 के 178 यात्रियों को सही सलामत आतंकियों के कब्जे से छुड़ाना था।

उसके बाद मसूद अजहर छूट गया लेकिन उसके बाद मसूद ने भारत के खिलाफ जो जंग छेड़ी वो आज तक खत्म नहीं हुई है। भारत के चंगुल से छूटते ही मसूद ने जैश-ए-मोहम्मद बनाया औऱ फिर भारत के खिलाफ जहर और जंग का एलान कर दिया।

छूटने के दो साल में ही मसूद अजहर ने 2001 में संसद पर हमला करके एहसास कराया कि उसे छोड़ना कितनी बड़ी भूल थी।

संसद हमले के बाद मसूद ने इसी साल भारत के खिलाफ नए सिरे से आतंकी हमले को अंजाम देना शुरू किया। पठानकोट एयरबेस पर हमला मसूद के आतंकियों ने किया। 7 महीने के बाद फिर मसूद ने उरी में सेना मुख्यालय पर हमला करके खुद को भारत का दुश्मन नंबर एक साबित कर दिया है।

 

loading...
शेयर करें