कबड्डी लीग सीजन-5 में बराबरी का होगा मुकाबला : ऋषांक देवाडिगा

0

मुंबई| प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के पिछले चार संस्करणों में यू-मुंबा का प्रतिनिधित्व करने वाले ऋषांक देवाडिगा को पांचवें सीजन में चार नई टीमों में से एक उत्तर प्रदेश योद्धा की ओर से प्रतिद्वंद्वी टीम के पाले में रेड मारते देखा जाएगा।

ऋषांक देवाडिगा

ऋषांक देवाडिगा ने कहा, “मेरी और नितिन तोमर की जोड़ी तो मुख्य ही रहेगी

नई टीम के साथ अपनी नई शुरुआत के बारे में ऋषांक ने कहा कि इस सीजन में सभी टीमों के बीच मुकाबला बराबरी का रहेगा। मुंबई में बुधवार को आयोजित मीडिया फोरम में शामिल ऋषांक ने आईएएनएस के साथ साक्षात्कार में नए सीजन के लिए अपने विचार साझा किए। उन्होंने कहा कि अब नई टीमों के लिए इस टूर्नामेंट में पहले से शामिल आठ टीमों के वर्चस्व के साथ बराबरी की लड़ाई होगी।

पहले से मजबूत मानी जा रही यू-मुंबा और पटना पाइरेट्स को कड़ा प्रतिद्वंद्वी माना जाता है। अब तक के सीजन में ये टीमें अच्छा प्रदर्शन करती आ रही हैं। इस लीग में जो टीमें मजबूत थीं, वो हर सीजन में मजबूत रहीं और कमजोर टीमें कमजोर। हालांकि, इस बार स्थिति अलग है। अब सब बराबरी का मुकाबला देंगी।

नई टीम में शामिल होने के बाद नई चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार की गई योजनाओं के बारे में ऋषांक ने कहा, “मेरी और नितिन तोमर की जोड़ी तो मुख्य रहेगी ही। मैं प्रतिद्वंद्वी टीम पर दाहिने पाले से हमला करूंगा और नितिन बाएं पाले से करेंगे, क्योंकि मैं राइट रेडर हूं और वो लेफ्ट। हम दोनों का ये मेल अलग होगा। कई टीमें नई हैं और थोड़ी-थोड़ी संतुलित है। हमारे पास कई युवा खिलाड़ी हैं और जीवा कुमार, राजेश नरवाल जैसे अनुभवी भी। आशा है कि हमारी टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी।”

नितिन की विशेषताओं के बारे में ऋषांक ने कहा, “नितिन एक अच्छे खिलाड़ी हैं। विश्व कप में वह भारतीय टीम के गेम चेंजर थे। कबड्डी लीग में पिछले दो सीजन में अच्छा खेलने वाले नितिन जरूरत के समय टीम को संभालेंगे और उत्तर प्रदेश के निवासी होने के नाते टीम के प्रशंसकों की संख्या भी अच्छी होगी।”

उप्र के अलावा तीन नई टीमें चेन्नई, हरियाणा और गुजरात के संतुलन के बारे में ऋषांक ने कहा, “मैंने कहा है कि सभी टीमें थोड़ी संतुलित हैं, लेकिन हम अपनी टीम पर ध्यान दे रहे हैं। मैच जब शुरू होगा, तभी पता चलेगा कि कौन सी टीम अच्छा प्रदर्शन कर रही है।”

उप्र जांबाज के कप्तान के बारे में ऋषांक ने किसी प्रकार का बयान देने से इनकार कर दिया। हालांकि, लखनऊ में टीम को मिलने वाले समर्थन के बारे में उन्होंने कहा, “समर्थन हमें मिलना चाहिए, क्योंकि इस लीग में हम राज्य का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। हमारी कोशिश अच्छा प्रदर्शन कर वहां के लोगों को इस खेल के प्रति आकर्षित करने की होगी। इस राज्य में कबड्डी का एक प्रकार से पहला सीजन है। ऐसे में वहां की स्थिति क्या होगी, कहना मुश्किल होगा।”

टीम के मालिकों की ओर से इस सीजन के लिए दिए गए सुझाव पर रोशनी डालते हुए मुंबई निवासी ऋषांक ने कहा, “हमें खेलना है और जीत के लिए खेलना है। हम सभी खिलाड़ियों को टीम के मालिकों ने अच्छे प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित किया है। उन्होंने कहा कि हमें यह मानकर नहीं चलना है कि यह टीम का पहला सीजन है, तो खेलने के लिए खेलना है। खेलना है, तो ट्रॉफी लानी है और चैम्पियन बनना है।”

टीम की कमियों में सुधार की योजना पर ऋषांक ने कहा, “अलीगढ़ में जारी हमारे प्रशिक्षण शिविर में कोच हमारी कमियों पर ध्यान दे रहे हैं और उसमें सुधार के उपाय भी बता रहे हैं। वह व्यक्तिगत रूप से प्रत्येक खिलाड़ियों को गलतियों के बारे में समझा रहे हैं।”

उल्लेखनीय है कि चार नई टीमों के शामिल होने के कारण यह सीजन 12 सप्ताह तक खेला जाएगा, जिसमें 130 से भी अधिक मैच होंगे। लंबी लीग में लोगों की रुचि समाप्त हो जाती है। ऐसे में ऋषांक ने कबड्डी लीग के विस्तार के बाद इसमें लोगों की रुचि को बनाए रखने पर कहा, “लोगों की रुचि विस्तार के बाद भी इस खेल में बनी रहेगी। जब एक माह के सीजन में मैच रोजाना होते थे, लेकिन सीजन समाप्त होने के बाद लोग दूसरे सीजन का इंतजार करते थे। कबड्डी लीग में विस्तार से लोग अब खुश होंगे, क्योंकि अब वह तीन माह तक इसका आनंद लेंगे।”

कबड्डी टीम में कप्तान की अहमियत पर ऋषांक ने कहा, “अनूप प्रो-कबड्डी में सबसे अच्छे कप्तान हैं। उनके पास इस खेल का बहुत अनुभव हैं और इसके तहत वह टीम के डिफेंडर और रेडरों को योजना के अनुसार, साथ लेकर चलते हैं। एक कप्तान में ये खूबियां होना बहुत जरूरी है, जो टीम को साथ लेकर आगे बढ़े।”

लीग की नीलामी में मिली धनराशि और लोकप्रियता के बारे में ऋषांक ने कहा कि सभी खिलाड़ी खुश हैं, क्योंकि उन्हें इतने बड़े स्तर पर खेलने का मौका मिला है और इसके लिए पैसे भी मिल रहे हैं। हालांकि, बकौल ऋषांक, “इसमें एक दबाव भी होता है, क्योंकि एक टीम ने हम पर अगर पैसे लगाए हैं, तो हम पर अच्छे प्रदर्शन की जिम्मेदारी बनती है।”

loading...
शेयर करें