अब दिल्ली के मनचलों पर भी गिरेगी एंटी रोमियो स्क्वायड की गाज

0

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के बाद अब दिल्ली भी एंटी रोमियो की तर्ज पर चलेगा। दिल्ली में आए दिन होने वाली छेड़छाड़ व महिला की सुरक्षा को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस वहां भी एंटी रोमियो स्क्वायड बनाने की सोच रही है। दिल्ली पुलिस के अधिकारी यूपी में बने एंटी रोमियो की पूरी जानकारी पाने में जुटी है। क्योंकि वो दिल्ली में इसे लागू करने से पहले इसके फायेदे और नुकसान के बारे में जानना चाहती है।

एंटी रोमियो स्क्वायड

एंटी रोमियो स्क्वायड के जरिए होगी महिलाओं की सुरक्षा

आपको बता दें, दिल्ली में निर्भया कांड के बाद से ही दिल्ली पुलिस महिलाओं की सुरक्षा को लेकर और महिला सेल को मजबूत बनाने के लिए अलग से महिला टीम भी बनाई गयी थी। यही नहीं उन्होंने ‘हिम्मत’ नाम का एक मोबाइल एप भी तैयार किया था। जिसके जरिए महिला अगर किसी खतरनाक परिस्थिति में फंस जाती है तो वो उस एप के माध्यम से सीधे पुलिस कंट्रोल रूम से सहायता की मांग कर सकती है। इस एप का यूज़ दिल्ली में किया भी जा रहा है।

यही नहीं उनकी सुरक्षा के लिए महिला टैक्सी सेवा की शुरूआत भी की गयी जिसे महिलाएं ही चलाती है। लेकिन इन सब के बावजूद दिल्ली में छेड़छाड़ जैसी घटनाएं होती रहती है। इसी वजह से दिल्ली पुलिस ने एंटी रोमियो स्क्वायड को दिल्ली में भी लागू करने का निर्णय लिया है।

आपको बता दें, यूपी में चल रहे एंटी रोमियो स्क्वायड को यहां लागू करना दिल्ली पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। क्योंकि दिल्ली में लड़के और लड़कियों का साथ घूमना व सार्वजनिक स्थानों पर बैठना आम बात है। यहां के और यूपी के परिस्थिति में काफी अंतर है। साथ ही देशी और विशेदी पर्यटकों का प्रमुख स्थान होने के कारण भी यहां पर यूपी जैसी सख्ती से अभियान का संचालन दिल्ली पुलिस के लिए परेशानी का सबब बन सकता है।

हाल ही में अभी यूपी के देवरिया में एंटी रोमियो स्क्वाड ने की टीम ने हनुमान चौराहे पर किसी काम से गए भाई-बहन को पकड़ लिया। दोनों ने अपने को भाई-बहन बताया, लेकिन टीम के सदस्य मानने को तैयार नहीं हुए। घटना की जानकारी जब अभिभावक को हुई तो वे वहां पहुंचे। उनके कहने पर कोतवाली पुलिस और एंटी रोमियो टीम ने माफ़ी मांग कर उन्हें छोड़ दिया। हालांकि सीओ सिटी ने उन्हें पकडऩे वाले टीम के सदस्यों के खिलाफ जांच के आदेश दे दिया है।

 

loading...
शेयर करें