एंडी मरे ने दूसरी बार विंबलडन खिताब किया अपने नाम

0

लन्दन। शीर्ष ब्रिटिश टेनिस स्टार एंडी मरे ने रविवार को यहां सेंटर कोर्ट पर हुए पुरुष एकल वर्ग के फाइनल मुकाबले में कनाडा के मिलॉस राओनिक को हराते हुए दूसरी बार विंबलडन खिताब अपने नाम किया। दूसरी विश्व वरीयता प्राप्त मरे ने दो घंटे 48 मिनट के मुकाबले में राओनिक को सीधे सेटों में 6-4, 7-6, 7-6 से हराया।एंडी मरे

एंडी मरे ने मिलॉस राओनिक को हराकर जीता विंबलडन खिताब

करियर का पहला ग्रैंड स्लैम फाइनल खेल रहे राओनिक पहला सेट आसानी से गंवा बैठे। लेकिन इसके बाद उन्होंने अगले दोनों सेटों में मरे को कड़ी चुनौती दी और दोनों ही सेट टाईब्रेकर तक खींचने में सफल रहे।

हालांकि टाईब्रेकर में वह धैर्यपूर्वक प्रदर्शन नहीं कर पाए और करियर का पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने से चूक गए। मरे का यह दूसरा ग्रैंड स्लैम जबकि करियर का तीसरा ग्रैंड स्लैम खिताब है। इससे पहले वह 2013 में विंबलडन खिताब जीत चुके हैं।

11वीं बार फाइनल मुकाबला खेल रहे एंडी मरे के लिए यह पहला मौका था, जब वह नोवाक जोकोविच और रोजर फेडरर के अलावा किसी दूसरे खिलाड़ी के सामने थे। एंडी मरे ने इस चुनौती का सामना करते हुए शानदार जीत हासिल की। इस जीत के साथ ही मरे ने किसी कनाडाई खिलाड़ी द्वारा पहली बार ग्रैंडस्लैम खिताब पर कब्जा जमाने की उम्मीदों पर भी पानी फेर दिया।

जीत के बाद मरे ने कहा कि हर साल यह टूर्नामेंट मेरे लिए बेहद महत्वपूर्ण होता है। मेरे लिए कई बड़े अवसर रहे हैं और कई बार कठिन हार झेलनी पड़ी है। मैंने आज कई अच्छे शॉट खेले। इस जीत को खास बताते हुए मरे ने कहा कि कई मुश्किल हारों के बाद यह जीत मेरे लिए एक्स्ट्रा स्पेशल जैसी है। दूसरी बार इस ट्रॉफी के हाथ में आने पर मुझे गर्व है।

इस वर्ष इससे पहले वह आस्ट्रेलियन ओपन और फ्रेंच ओपन के फाइनल तक जरूर पहुंचे हालांकि खिताब अपने नाम नहीं कर सके थे।

loading...
शेयर करें