एएमयू के मेडिकल कॉलेज में दिल की परेशानी से ग्रसित बच्चों की मुफ्त में होगी हार्ट सर्जरी

अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज (जेएनएमसी) में जन्मजात दिल के प्रॉब्लम से परेशान बच्चों की मुफ्त में सर्जरी होगी। विश्वविद्यालय ने इस संबंध में एक ब्रिटिश चैरिटी के साथ समझौता किया है। हिलिंग लिटिल हार्ट (एचएलएच) चैरिटी के साथ समझौता एएमयू के कुलपति तारिक मंसूर और प्रति-कुलपति तबस्सुम शाहाब व एएमयू के पूर्व छात्र शमशुल जोहा के सहयोग से हुआ है।

एएमयूकुलसचिव जावैद अख्तर, कार्डियोथोरैसिस सर्जरी विभाग के अध्यक्ष मोहम्मद हनीफ बेग और आजम हसीम ने एचएलएच के संजीव निचानी और जोहा के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

प्राध्यापक बेग ने कहा, “रिसर्च से पता चला है कि स्वतंत्रता के बाद भारत में प्रतिवर्ष जन्म लेने वाले 1 लाख से ज्यादा नवजात शिशु जन्मजात हृदय रोग से ग्रसित होते हैं। हृदय रोग से ग्रस्त इन बच्चों की मदद करने के लिए जरूरी कदम उठाने का यह सही समय है।”

कई बच्चों को हृदय संबंधी सर्जरी की जरूरत होती है लेकिन वित्तीय बाधाओं की वजह से कई बच्चे की सर्जरी नहीं हो पाती और यहां तक की कम खर्च में इलाज उपलब्ध होता है, लेकिन वह खराब दक्षता के साथ औसत दर्जे का होता है।

उन्होंने कहा, जेएनएमसी वंचित वर्गो के रोगियों को अच्छी सुविधाओं के साथ बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराता है।

Related Articles