ईडी का पूर्व अधिकारी चार लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार

0

लखनऊ| केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शनिवार को राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (एनआरएचएम) घोटाले के एक आरोपी से 50 लाख रुपये की रिश्वत मांगने के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) में डेप्युटेशन पर काम करने वाले एक वरिष्ठ अधिकारी को गिरफ्तार किया। सीबीआई ने छापेमारी की और ईडी के पूर्व सहायक निदेशक एन.बी.सिंह तथा उनके सहयोगी सुभाष को शिकायतकर्ता से चार लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। सिंह ईडी के लखनऊ जोन कार्यालय में कार्यरत हैं।

एन.बी.सिंह

एन.बी.सिंह को रिलीव कर दिया गया है लेकिन वो फिर भी सकाम पर जा रहे हैं

सिंह ईडी में डेप्युटेशन पर काम कर रहे थे और एनआरएचएम से संबंधित कुछ मामलों क देख रहे थे।

जांच एजेंसी के अधिकारियों ने कहा, “जब्त रकम रिश्वत के रूप में मांगी गई 50 लाख की रकम का हिस्सा है, जिसकी मांग सिंह तथा सुभाष ने शिकायतकर्ता सुरेंद्र चौधरी से की थी।”

अधिकारी ने कहा कि शिकायतकर्ता के खिलाफ मामले में चल रही जांच में उदारता बरतने के लिए रकम की मांग की गई थी।

अधिकारी के मुताबिक, सिंह को ईडी ने 18 मई को ही रिलीव कर दिया था और उनके केंद्रीय उत्पाद तथा सीमा कर विभाग में भेज दिया था, लेकिन उन्होंने कार्यालय जाना जारी रखा।

चौधरी की लिखित शिकायत पर सीबीआई ने शुक्रवार को एक मामला दर्ज किया। उत्तर प्रदेश के मेरठ के निवासी चौधरी ने कहा है कि अधिकारी ने उन्हें धमकी दी थी कि अगर उन्होंने रिश्वत नहीं दी, तो उनकी चल तथा अचल संपत्ति जब्त कर ली जाएगी।

loading...
शेयर करें