अमेरिका ने रोमानिया भेजे एफ-22 लड़ाकू विमान

0

बुखारेस्ट| अमेरिकी वायुसेना के दो एफ-22 लड़ाकू विमान कोंस्टांटा के ब्लैक सी बंदरगाह के पास सैन्य अड्डे पर पहुँच गए हैं|  नाटो की सामूहिक सुरक्षा और क्षेत्रीय स्थिरता के तहत यह पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमान रोमानिया पहुंचे हैं। यहाँ इन लड़ाकू विमानों को सिर्फ आज ही रखा जाएगा|

एफ-22 लड़ाकू विमान सिर्फ आज ही रहेंगे यहाँ

एफ-22 लड़ाकू विमान

 

अमेरिका की वायुसेना के तीसरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल टिमोथी रे ने सैन्यअड्डे पर संवाददाता सम्मेलन में बताया, “एफ-22 लड़ाकू विमान सिर्फ आज यहां रहेंगे, लेकिन ये एफ-22 लड़ाकू विमान अगले कुछ महीनों तक यूरोप में ही रहेंगे।”

रोमानिया के जनरल स्टाफ के प्रमुख जनरल निकोल कीउका ने बताया कि रोमानिया में एफ-22 लड़ाकू विमान की उपस्थिति से दोनों देशों के बीच रणनीतिक भागीदारी का पता चलता है।

चीन ने की अंतर्राष्ट्रीय हवाई क्षेत्र में अमेरिकी हवाई अभियान की निंदा

वहीँ दूसरी ओर चीन के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने उन मीडिया रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया दी, जिनमें कहा गया है कि अमेरिका की वायु सेना के छह विमानों ने दक्षिण चीन सागर में ह्वांग्यान द्वीप के पास ‘अंतर्राष्ट्रीय हवाई क्षेत्र’ में हवाई अभियान चलाया। यह अभियान 19 अप्रैल को चलाया गया था।

चीनी मंत्रालय के सूचना ब्यूरो की ओर से एक बयान में कहा गया, “हमने ऐसी खबरें देखने-सुनने को मिली हैं और इस पर ध्यान दिलाया जाना चाहिए कि अमेरिका नौवहन की स्वतंत्रता के नाम पर दक्षिण चीन सागर के सैन्यीकरण पर जोर दे रहा है।”

कहा गया कि कि चीन इस तरह की हरकतों को लेकर चिंतित व उनके खिलाफ है, जो दक्षिण चीन सागर के आसपास के देशों की सुरक्षा के लिए खतरा हैं और जो क्षेत्रीय शांति व स्थिरता को खोखला कर रही हैं।

बयान में कहा गया कि ह्वांग्यान द्वीप चीन का आंतरिक क्षेत्र है और चीनी सेना राष्ट्रीय संप्रभुता व सुरक्षा की रक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी।

loading...
शेयर करें