नायडू ने कहा- 2017 में भी होता रहेगा शहरीकरण

0

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने रविवार को कहा कि वर्ष 2016 में नए शहरी मिशनों को लागू करने में प्रगति प्रोत्साहित करने वाली रही और अगले वर्ष भी इन्हीं क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित रखा जाएगा। शहरी विकास मंत्री नायडू ने संवाददाताओं से कहा, “कुल मिलाकर 2016 में नए लक्ष्यों पर अमल उत्साहवर्धक रहा है। हमलोग चाहेंगे कि यह गति और तेज हो ताकि मनचाहे परिणाम तय समय सीमा के अंदर हासिल हो जाए।

एम वेंकैया नायडू

एम वेंकैया नायडू ने कहा- तेजी से सुधर रही है शहरों की स्थिति 

एम वेंकैया नायडू ने कहा कि परियोजना तैयार करने का निरूपण करने, उनका मूल्यांकन करने और उनकी स्वीकृति देने में मंत्रालय ने लगातार सहायता की है जिसके परिणामस्वरूप तेजी से स्वीकृतियां मिली हैं। पहले की तरह काम करने की जगह शहरी निकाय को नए रास्ते अपनाने थे। वे इस मामले में बहुत हद तक ऊपर उठे हैं और यह उनके लागू करने की गति से साफ दिखता है।

एम वेंकैया नायडू ने कहा कि राज्यों और शहरों के बीच प्रतिस्पर्धा देखी जा रही है और शहर सकारात्मक परिणाम दे रहे हैं। शहरी इलाके में काम करने की स्थिति तेजी से सुधर रही है।

बाद में शहरी विकास मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि शहरी संरचनागत परियोजनाएं लागू करने में तेजी, 60 शहरों में स्मार्ट सिटी योजना की स्वीकृति, नगरीय बांड के जरिए संसाधन जुटाने, स्वच्छ भारत अभियान शहरी इलाकों में गति पकड़ रहा है। रियल एस्टेट कानून का लागू होना और रियल एस्टेट नियमों की अधिसूचना वर्ष 2016 में शहरी विकास की एक नई उपलब्धि रही।

मंत्रालय ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण का निर्धारित लक्ष्य 2016 में करीब आधा हासिल कर लिया गया। मंत्रालय ने कहा कि 66 लाख घरों में शौचालय निर्माण का लक्ष्य रखा गया था जिसमें करीब 28 लाख (27,81,883) शौचालय का निर्माण किया जा चुका है और 21,43,222 लाख शौचालय का निर्माण पूरा होने के करीब है। इसके अलावा 5.08 लाख सामुदायिक एवं सार्वजनिक शौचालय का निर्माण 2019 तक किए जाने का लक्ष्य है।

loading...
शेयर करें