विदेशी कैदी ने देशी तरीके से किया प्रेम का इजहार, बनाया दूसरा ताज महल

0

लखनऊ, (जितेन्द्र निषाद)। उत्तर प्रदेश की जेल में ड्रग्स की तश्करी मामले में सजा काट रहे फ्रांस के एल्बर्ट पासकल ने अपनी कला का बेहतरीन प्रदर्शन किया है। पासकल ने नए साल के मौके पर अपनी पत्नी के लिए लकड़ी का ताज महल बनाया है जिसे जिला पुलिस ने शोकेस में सजा कर रखा है। पासकल 2014 से जेल में अपनी सजा काट रहा है। पासकल का लकड़ी का ताज महल काफी वायरल हो रहा है।

एल्बर्ट पासकल

एल्बर्ट पासकल ने दिखाया अपना हुनर

एल्बर्ट पासकल ने इस ताज महल को माचिस की तीलियों से बनाया है। खबरों के मुताबिक, इसे बनाने में लगभग 30 हजार माचिस की तीलियों और 2 किलो फेवीकॉल का इस्तेमाल किया गया था। एल्बर्ट ने इस ताज को 3 महीने की मेहनत के दौरान तैयार किया है।

पासकल ने लकड़ी के इस ताज महल को अपनी पत्नी को नए साल का तोहफा देने के लिए बनाया है। पासकल ने इसे अपनी पत्नी को देने की इच्छा जाहिर की है। खबर है कि जेल प्रशासन उसकी इस इच्छा को पूरी करने की कोशिश कर रहा है।

एल्बर्ट का एक दोस्त उससे मिलने के लिए भारत आया था और अब पुलिस उसके हाथों ही ताज महल एल्बर्ट की पत्नी को भेजेगी। खबरों के मुताबिक, एल्बर्ट 2014 में भारत-नेपाल बॉर्डर से 3 किलोग्राम चरस के साथ पकड़ा गया था। पकड़े जाने के बाद 2 दिसंबर 2014 से एनडीपीएस ऐक्ट के तहत गोरखपुर में सजा काट रहा है।

एल्बर्ट एचआईवी की बीमारी से भी जूझ रहा है जिसकी दूसरी स्टेज में वह पहुंच चुका है। खबर के मुताबिक, जेल प्रशासन ने भी उसके लकड़ी के ताज महल बनाने की इच्छा को पूरा कराने में मदद की। एल्वर्ट को वे सारा सामान दिया गया जिसकी उसे ताज महल बनाने में जरूरत थी।

loading...
शेयर करें