ऑड-ईवेन फॉर्मूले के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार

ऑड-ईवेन फॉर्मूलेनई दिल्ली।  ऑड-ईवेन फॉर्मूले के खिलाफ एक याचिका पर जल्द सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने इंकार कर दिया। याचिका में दिल्ली हाई कोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें उसने ऑड-ईवेन फॉर्मूले को मंजूरी दी है। इस फॉर्मूले के तहत निजी कारों को ऑड-ईवेन तारीखों पर ही सड़कों पर उतरने की अनुमति है।

ऑड-ईवेन फॉर्मूले पर जल्‍द सुनवाई से इनकार

याचिका पर जल्द सुनवाई से इंकार करते हुए सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति टी.एस. ठाकुर की अध्यक्षता वाली पीठ ने याचिकाकर्ता के इरादों पर भी संदेह जताया और कहा कि क्या उन्होंने ऐसा सिर्फ चर्चा में आने के लिए किया है। याचिका युवा अधिवक्ता बी. बद्रीनाथ ने दायर की थी। न्यायालय की पीठ ने हैरानी जताते हुए कहा कि आखिर यह याचिका इतनी देर से क्यों दायर की गई।

राष्ट्रीय राजधानी में बढ़ते प्रदूषण के स्तर पर दिल्ली हाई कोर्ट की कड़ी टिप्पणी के बाद दिल्ली सरकार ने पहली जनवरी से 15 जनवरी तक ट्रायल के तौर पर यह फार्मूला जारी किया था। दिल्ली उच्च न्यायालय ने राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण के खतरनाक स्तर के संदर्भ में कहा था कि यह गैस चैम्बर में तब्दील हो गया है।

क्‍या है ऑड-ईवेन फार्मुला

राजधानी दिल्ली में प्रदूषण के खिलाफ मुहिम छेड़ी गई। इसके लिए 1 जनवरी से 15 जनवरी तक ऑड-ईवेन फॉर्मूला ट्रायल के तौर पर शुरू किया गया। देश में ऐसा फॉर्मूला पहली बार शुरू हुआ।

इस फार्मुले के तहत ऑड तारीख के दिन ऑड नम्‍बर की गाडि़यां और इवेन तारीख के दिन इवेन नम्‍बर की गाडि़यां चलेंगी। पहले इसे सिर्फ 15 दिन के ट्रायल पर लागू किया गया। ये नियम सुबह 8 बजे से रात के 8 बजे तक ही लागू होगा। वहीं रविवार के दिन इस नियम में छूट भी दी गई।

वहीं नियम तोड़ने वालों के लिए 2000 रुपए का जुर्माना निर्धारित किया गया। वहीं सीएनजी गाडि़यों के लिए यह नियम लागू नहीं है। दिल्‍ली में 4 से 5 हजार तक नई बसें भी चलाई जा रही हैं। दिल्‍ली में आने वाली हर गाड़ी के लिए ये फार्मूला लागू है, चाहे वह गाड़ी किसी अन्‍य प्रदेश से ही क्‍यों न आई हो।

अभी दिल्‍ली में करीब 19 लाख गाडि़यां रजिस्‍टर्ड हैं। वहीं यह नियम लागू होने के बाद से माना जा रहा है कि दिल्‍ली की सड़कों से 10 लाख गाडि़यों की संख्‍या में हर दिन कमी आएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button