ऑरलैंडो की गोलीबारी घटना ‘घर में पनपा चरमपंथ’ : ओबामा

0

वाशिंगटन। ऑरलैंडो के एक समलैंगिक नाइटक्लब में अंधाधुंध गोलियां बरसाने की घटना को अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ‘घर में ही पनपा चरमपंथ’ करार दिया है। इसे लेकर अमेरिका के अधिकारी चिंतित रहे हैं। इस गोलीबारी में शूटर सहित 50 लोग मारे गए।

ओबामा

ओबामा ने ठहराया आतंकवादी घटना

ओबामा ने व्हाइट हाउस में कहा, “हम फिलहाल आपको यही कह सकते हैं कि यह घर में पनप रहे आतंकवाद का एक उदाहरण है, जिसे लेकर हम सभी लंबे समय से चिंता में हैं।”

ओबामा के अनुसार, फिलहाल ऐसा कोई ‘स्पष्ट संकेत’ नहीं मिला है कि रविवार को फ्लोरिडा स्थित ऑरलैंडो के चर्चित समलैंगिक नाइटक्लब में अंधाधुंध गोलियां बरसाने वाला बंदूकधारी बाहर से है।

ऑरलैंडो के नाइटक्लब में बरसाई गईं अंधाधुंध गोलियों में एक पुलिस अधिकारी सहित 49 लोगों की मौत हो गई और 53 अन्य लोग घायल हुए।  चिकित्स्क ने बताया कि ज्यादातर घायलों की स्थिति गंभीर है, इसलिए मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है। यह अमेरिका के इतिहास में 2001 के 9/11 आतंकवादी हमले के बाद जनसंहार की सबसे जानलेवा एवं घिनौनी वारदात है।

ऑरलैंडो पुलिस प्रमुख जॉन मिना ने कहा कि, “ऐसा लग रहा है कि उसने पहले से पूरी तैयारी कर ली थी।” वहीँ एफबीआई अधिकारी रोनाल्ड हॉपर ने बताया कि हमलावर ने हाल ही में दो बंदूकें खरीदी थी।

loading...
शेयर करें