कई सालों से खेल प्रतिभाएं अंधेरे में खो गई हैं- राजनाथ सिंह

0

श्रीनगर। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिह ने गुरुवार को जम्मू एवं कश्मीर के युवाओं से अपना भाग्य बदलने के लिए शिक्षा हासिल करने और खेलों में भाग लेने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि राज्य में कई युवा ‘कई वर्षो तक अंधेरे में खो गए थे।’ गृह मंत्री ने कहा कि युवा और राज्य की खेल प्रतिभाओं को केंद्र व जम्मू एवं कश्मीर सरकार द्वारा मुहैया कराए जाने वाली सुविधाओं का लाभ उठाना चाहिए।

राजनाथ सिंह ने श्रीनगर में स्पोर्ट्स कांक्लेव को संबोधित करते हुए कहा, “इस राज्य में कई खेल प्रतिभाएं कई वर्षो तक अंधेरे में खो गई थीं। अब हम राज्य में युवाओं और खेल प्रतिभाओं को मौका दे रहे हैं। मुझे विश्वास है कि जम्मू एवं कश्मीर के युवा अपने भविष्य और अपने भाग्य को ‘खेलों की करामात’ और ‘तालीम की ताकत’ के जरिए बदल सकते हैं।” इस कांक्लेव में जम्मू, कश्मीर और लद्दाख क्षेत्र के 3000 से ज्यादा खिलाड़ियों और छात्रों ने भाग लिया।

राजनाथ सिह ने श्रीनगर में जम्मू एवं कश्मीर खेल परिषद द्वारा आयोजित समारोह में प्रसिद्ध खेल हस्तियों परवेज रसूल, मंजूर अहमद, मेहराज उद दीन वाडू, पलक कौर, बलवीन कौर, सूर्या भानु और रियल कश्मीर फुटबॉल क्लब के सदस्यों को सम्मानित किया। सिंह यहां गुरुवार को रमजान के दौरान संघर्ष विराम के दौरान सुरक्षा स्थिति का जायजा लेने आए हुए हैं।

राजनाथ सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, राज्यपाल एन.एन. वोहरा, सुरक्षा व खुफिया अधिकारियों से मुलाकात के दौरान 15 जून को रमजान समाप्त होने के बाद संघर्ष विराम को बढ़ाने के बारे में चर्चा कर सकते हैं। केंद्र सरकार द्वारा 16 मई को संघर्ष विराम की घोषणा के बाद से आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड और आईईडी से हमला कर भाग जाने की रणनीति अपनाई है। इससे पहले राजनाथ सिंह ने दिल्ली में कहा था कि उनके दौरे के दौरान वह जम्मू एवं कश्मीर में युवाओं, समाज के अन्य धड़ों व सीमावर्ती क्षेत्रों में रह रहे लोगों से मुलाकात करेंगे।

loading...
शेयर करें