कचरे से जगमगाएगा शहर और लहलहाएगें खेत

0

इलाहाबाद। शहर को साफ सुथरा रखने के लिए सरकारी स्तर पर तमाम जतन किए जा रहे हैं। साफ-सफाई के बाद सबसे बड़ी समस्या इलाहाबाद शहर से निकले कूड़े कचरे के निष्पादन की आ रही है। इस समस्या से निपटने के लिए नगर निगम ने एक नया रास्ता अख्तियार किया है। अब कचरे से जगमगाएगा शहर इसी को सफल बनाने के लिए इलाहाबाद प्रशासन ने एक योजना तैयार की है। इसके लिए नगर निगम ने दो प्राइवेट एजेंसियों के बीच एग्रीमेंट किया है।

कचरे से जगमगाएगा शहर

कचरे से जगमगाएगा शहर :150 मीट्रिक टन कचरा मुफ्त देगा नगर निगम

शहर से निकलने वाले कचरे को नगर निगम शहर के बाहर डंप करता है लेकिन अब शहर में फैले कचरे से शहर में रोशनी फैलाने की योजना बनाई जा रही है। इन कचरों से सीबरी ग्रीन एनर्जी बिजली तैयार करेगा। बिजली पैदा करने के लिए 150 मैट्रिक टन प्रतिदिन कचरा नगर निगम की तरफ से एजेंसी को निशुल्क देगा। इस कचरे से ही प्रतिदिन तीन मेगावाट बिजली का प्लांट तैयार किया जाएगा। यह बिजली नगर निगम को करार के अनुरूप मिलेगी। हांलाकि छह महीने पहले ही एजेंसी की ओर से सर्वे कार्य चल रहा था। प्रतिदिन पैदा होने वाली तीन मेगावाट की बिजली का उपयोग पहले विभिन्न विभागीय कार्यों में होगा। यह प्रकिया सफल रही तो आने वाले समय में स्ट्रीट लाइट सहित अन्य चीजों में भी इस बिजली का उपयोग किया जाएगा।

निकलता है 600 मीट्रिक टन कचरा
नगर निगम आयुक्त देवेंद्र पांडेय का कहना है कि शहर से प्रतिदिन 600 मीट्रिक टन कचरा निकलता है। जिसमें से 150 मीट्रिक टन प्रतिदिन बिजली बनाने के लिए दिया जाएगा, शेष बचे हुए 450 मीट्रिक टन कचरे से देसी खाद तैयार की जाएगी। इस प्रक्रिया से न केवल बिजली मिलेगी बल्कि किसानों को खाद भी मिल जाएगी। उत्पादित बिजली को शहरवासियों को दिया जाएगा। बची हुई बिजली को बेचा भी जाएगा। कचरे से जगमगाएगा शहर इसी सपने को साकार करने में लगे हुए हैं।

loading...
शेयर करें